most 1

Friday, March 9, 2018

दिल दहलाने बाली एक सच्ची कहानी

March 09, 2018 0 Comments
सही  कहा है किसी ने। ...

जीबन में जो बात खाली पेट और खाली जेब जो कुछ
सिखाती है बो बात दुनिया की कोई भी युनिबर्सिटी नही सिखा सकती ।


दोस्तों ये  कहानी  एसे  ही  एक लड़के की है जिस का नाम  था  सरफ़राज़ आलम ! सरफ़राज़ आलम  बहुत नेक और बहुत सीधा लड़का था ! पर उसे एक बीमारी थी डिप्रेसन【टेंसन】 की ! बो  हमेसा एक सोच और फ़िक्र में  रहता था ! बो इंसान ऐसा था के अगर उस से कोई  एक साल बाद की भी कोई हलकी से धमकी दे देता तो बो उस आने बाले कल की खतरनाक तरीके से टेंसन कर बैठता ! बो हमेसा अपनी दुनिया के फ़िक्र में लगा रहता था ! लेकिन सरफ़राज़ के अंदर बहुत सारी  खूबियां  भी थी ! के उस का दिमाक चलता नही था दौड़ता था , दूसरा बो झूट नही बोलता , किसी को  धोखा नही देता क्यों की बो अपने रब से डरता था ।   उसके  चार भाई थे  जिन  में एक  बड़ा  भाई था  जो की अपने भाई से प्यार तो करता था मगर      बो अपनी बीबी का गुलाम था ! उससे छोटा एक और भाई था  जो   की  बो भी सदी सुदा था और बो अपनी बीवी के साथ एक गांव  में रहता था  ! और उस से  छोटा जो सहर में पड़ता था ! और चौथे नंबर  का खुद सरफ़राज़ था ! उनके पिता ने उन्हें पालने के लिए बहुत ही कठीण  संघर्ष  किया लेकिन जब गरीबी ने कुछ ज्यादा ही तंग कर दिया तो बो अपने परिबार के पालन पोसण के के लिए  बाहां  से बहुत दूर  एक बिदेस में चला गया !  फिर उनके घर की बागडोर  उनकी माँ के   हाथो   में  थी  । लेकिन जो उनके पिता थे उस ने अपने आपको बिदेस में बहुत ही अकेला महसूस किया और उस पर खाना भी बनाना नही आता था तो फिर उस ने सरफ़राज़ की माँ को भी बिदेस ही बिला लिया ।! अब सरफ़राज़ की परेशानियों और बढ़ गई जब उनकी माँ भी बिदेस  के लिए  चली गई  । और अपने पति के साथ रहने लगी । !  अब  पूरे घर की बागडोर उनकी भाबी के  हाथो  में  आ गई जो कब से इस घड़ी का इंतज़ार  कर  रही थी ! उस की भाबी बहुत ही जल्लाद किस्म की थी ! और इस बाक्त सिर्फ सरफ़राज़ 
ही घर पर रहता था और बाकि दो अपनी जगह पर ! और जो सब से बड़ा था बो  सफते में एक बार या दो बार घर आ जाया करता था ! सरफ़राज़ ने पढ़ाई भी अच्छी कर रखी थी । और हर बिसय में होशियार था ।
 उस की भाबी    सरफ़राज़ से  गधो  की की तरहा काम कराती  ! और कभी सरफ़राज़ ने. किसी काम को करने से माना  कर  देता तो उसे खाना नही  मिलता अगर उसे कभी कोई सामान खरीदने के लिए  पैसे चाइये  थे तो उसे कहती के  कुम्हा ला और चला ले अपना खर्च  !  बो  बेचारा तो टेंसन का मरीज़  था अब उस के लिए सिर्फ   टेंसन    करने के इलाबा और कुछ नही बाचा था ! जब उस का भाई आता तो  उस से सरफ़राज़ की एक से दो लगा देती तो फिर उस का भाई उसे  मारता उस की हालत ऐसी हो  गाई के अब  कब मर जाए क्यों की  टेंसन कर कर के इतना सूख गया  के अब उस की कोई साब  पसलियों  को  गिंन  सकता  है !  बो   सोचता के कैसे भी  कर के  उस की बात उन के माँ बाप से हो जाए  !  बहुत तंग होने पर उस ने  खुदखुसी करने का फैशला किया  क्यों की घर में भाबी भाई तंग करते और
जब बो घर से  भार जाता तो कॉलोनी बाले उस का माजाक उड़ाते क्यों  की  बह बहुत सूख चूका था ! जब उस का दिल घर से    बिलकुल  भर गया तो  बह रेल्बे  इस्टेसन  की  ओर   खुदखुसी  के  निकला ! बो रोता हुआ जा रहा था और गहरी सोच मे डूबा सा  हुआ  चला जा रहा था ! जब बो इस्टेसन  पर  पहुचा तो  उसने देखा के अभी आधे घंटे तक कोई   भी  रेल आने बाली नही है ! तो बो ट्रेन  के इन्तज़ार  में  बैठ गया ! तो फिर बह देखता है  के एक पैर बाला  आदमी इस्टेसन पर कुछ बेच रहा है और बह उस थोड़े से सामान  को बेचकर काफी खुस है ! और अपने जीबन के बाकी दिनों  को काफी खुसी के साथ काट रहा है ! तो उस के भी दिमाक में  एक आईडिया आया और   बह सोचने लगा के अगर में खुदखुसी  करूँगा तो मेरा रब भी नाराज़ और मेरे माँ बाप तो शेन  नही  कर पाएंगे मेरी मोत को ! तो  बो घर पर बापस आ गया !और उसने   अपने यार दोश्तो पर से जैसे  तैसे  कर के  ५०० रूपये किये  ! अब  रात को जब सब सो गाये तो उसने अपने कुछ कापड़े और  अपने जरूरी डोकोमेन्स और  पहचान पात्र लिए और  भाहां    से भागने के लिए तैयार हो गया  ! और हिम्मत  कर के घर से  भार निकाल आया  बह अपनी  कॉलोनी से निकल कर रोड पर   पहुचा    की इतने में उसे पुलिस की जीप गश्त करने बाली मिल  गयी और उससे  पूछने लगी ' खा जा रहा है बे इत्ती रात गाये तू।   कोई चोरी शोरी  कर के ले जा रियो का  . बता क्या है  थेले  में  उस की  तालासी  ली जाती है और  जब उस के बेग में कपडे और  डोकोमेँट्स  निकालते है तो बो उसे स्टूडेंट समझ कर  छोड़ देते  है ! फिर थोड़ी ही देर में एक रिक्सा बाला आ जाता और बो उस में  बैठ कर इस्टेसन  चला जाता है ! इस समय सरफ़राज़ का दिल बहुत. तेजी के साथ धडक रहा था क्यों की बह अपने जीबन  में  एक बहुत बाड़ी जुम्मेदारी में आपने आपको ढाल  रहा था अब उसे अपने  ज़िंदा   रखने  के लिए अपने आप को ही मेहनत करनी होगी ! बह रात को  २  बजे जयपुर के लिए राबाना हुआ !उस का दिल घबरा भी रहा था और खुस भी  था ! बो सुबह जयपुर पहुच गया  और अब उस के  पास ३०० रूपये बचे थे ! बो जयपुर में काम के लिए इधर उधर डोला  लेकिन उसे कोई काम ना मिला !  अब उस के पास जो पैसे थे  बो भी खत्म हो  गए सिबाय २०  रूपये के ! उसे भूक लागि तो बो  पहले तो सोचता रहा के होटल बाले उसे मारेंगे पुरे पैसे ना दिए तो ! उसे अब जयपुर में भूखे डोलते डोलते २ दिन हो गए अब तो बो  २० रूपये भी खर्च हो गाये !  एक रात को बो एक होटल में घुस गया   जब उस अपनी भूक ना  रुक सकी तो ! उसने खाना तो खा लिया  लेकिन अब बो क्या करे क्यों की उस के पास देने के लिए रूपये नही थे ! बह उठा और होटल मालिक के पास जाकर बोल दिया  के मेरे पास पैसे नही  ! होट ल मालिक  ने उशे  एक गुस्से भरी निगाह  से देखा और बोला।   कल्लू  लेके जा इस मादरचोद को बर्तन  माजने के लिए और सारे  बर्तन ढाल दे इसके पास में  खा खा से आ जाते  है  साले। ...  सरफ़राज़ ने अपना बेग एक तरफ रखा  और लग गया बर्तन माजने ! अब  सारे होटल के  गिरहको  के   बर्तन उसे ही  डाले जा रहे थेऔर  बेचारा सरफ़राज़ गर्दन को नी ची  कर  के बर्तन मजे जा रहा था सर्दियों के दिन बह  कांपता जा रहा था और बर्तन धोता  जा  रहा था ! होटल का मालिक इस सारे   मंज़र को देख रहा था ! इतनी ही देर में एक गिरहाक खाना खा कर   वहार निकला की अचानक उस का परस गिर गया और उस प्रश   पर सरफ़राज़ की नज़र गई और बह भाहां  से उठा और उस प्रश को उठाया और उस आदमी को दिया जिस का ये प्रश था ! होटल मालिक ने जब यह सारा मंज़र देखा तो खुस हुआ और उस लड़के पर उसे रहम आया उसने उसे अपने पास बुलाया और उस से जयपुर में क्यों और खा आया ये पूंछा तो लड़के ने अपनी सारी स्टोरी सूना दी , तो होटल मालिक को बड़ा रहम आया और फिर  उसे अपने होटल में काम पर रक लिया  और  अब  बह इसी होटल में रहने. लगा ! सरफ़राज़ की होटल मालिक ने  उस की ईमानदारी की काफी  इम्तहान लिया लेकिन  बह ईमानदार निकला तो होटल  मालिक  ने उसे मैनेजर बना दिया और अब तो पेसो के काउंटर पर भी  सऱफराज़  बैठता ! सरफ़राज़ बांह ३ महीने तक रुका और  भाहां  सरफ़राज़  बे टेनसन रहता खाता  तो सरफ़राज़ की  भाहां   खूब  हेल्त बन गई थी ! और अब सरफ़राज़ खूबसूरत लगने लगा पहले  जैसा ! लेकिन अचानक ही उस की नज़र उनके भाई और भाबी  पर पाड़ी जो उसे डुडते हुए  जयपुर आ गए और बो इसी होटल  के पास आ रहे थे तभी सरफ़राज़ होटल मालिक के पास गया और  उनके आने की बात कहि और खुद अंदर चुप गया ! तभी उनके भाई और भाबी भाहा पहुच जाते है और होटल मालिक को सरफ़राज़ के बारे में पूछते है ! होटल मालिक उनसे मना  कर देता है. तो भह  होटल मालिक से लड़ने लग जाते है क्यों की किसी ने उन्हें. सरफ़राज़ के बारे में बता दिया था ! बो पुलिश को लेन की दमहकी  देते है फिर जैसे तेसे  कर के उन्हें भहां  से भगाया  ! फिर  होटल. मालिक सरफ़राज़ के पास आया और बोला के अब  में   आपको  यहां नही रख सकता  ! होटल मालिक ने उसे ३ महीने  लेकिन आपने किराया तो बताया नही ?
जो आपकी मर्ज़ी हो दे देना !
नही। ..... आप पहले  मुझे किराया बताइये तब म कुछ सोचूंगा  !
तो ठीक है  आप 500 रूपये महीने दे देना !
ओके। ........
सरफ़राज़  को मुनेश अपने घर जरूर बुलाना  चहाता था  क्यों की राजेश  नाम का उनका एक लड़का था जो की एक एक्सीडेंट में स्कूल. से आते बाक्त मर गया था  ! इस सादमे को उसकी माँ शेन  नही कर पाई और  बह   बहूत ज्यादा बीमार हो गई !   हमेसा बो  राजेश  राजेश लगी रहती है  और सरफ़राज़ की सकल और पूरा सरीर उस राजेश से  हु ब हु मिलता था तो उसने सोचा की क्यों न  इसे  राजेश  कर उसकी माँ के सामने लाया जाये तो क्या पता उशे कुछ. राहत पहुचे ! क्या पता बो  ठीक हो जाए ! बो ऐसी ही बाटे  सोच रहा था की  उसकी लड़की को होस आया और
पापा राजेश ...... ?
नही  बेटा बो अपना राजेश नही है !
है पापा अपना राजेश तो मर गया तो म उस से दर गई और मुझे लगा के हमारे घर  भूत आ गया ! है !
नही  बेटी ऐसा नही बोलते और अब बो हमारे ही. घर रहेगा हमारी राजेश. बन कर ताकि आपकी माँ  की कुछ तबियत ठीक हो जाये 
इतनी देर में सरफ़राज़ अपना सामान  लेकर बहां आता है तो उनकी कॉलोनी में जो भी सरफ़राज़ को देखता है बो राजेश।   .....
ऐसा जरूर कहता है और उसे गोर के साथ देखने लग जाता है !सरफ़राज़ के दिमाक में ये नही आ रहा था के ये हो क्या  रहा है  !
पर जाने दो बो सीधा उस घर में घुस जाता है उसने देख मुनेश बहुत खुस होता है  ! मुनेस सरफ़राज़ को उस का रूम बताता है जो की पहले राजेश का था ! सफराज उस को  देखता है तो देखता ही रह जाता है क्यों की. उसने अपनी ज़िन्दगी में काभी ऐसा रूम नही देखा था ! सरफ़राज़ को कुछ सही नही लगा और बह सोचने लगा के इतना बड़ा पैसे बाला इसने मुझे किराए पर कमरा कैसे दे दिया  और इसने इतने अच्छे रूम के सिर्फ 500 रूपये लिए है और ये  साला जो भी मुझे देखता है यहां  पर बो राजेश राजेश क्यों बोलता है  कुछ तो दाल में काला है । ...... तो सरफ़राज़ से रहा नही जाता है और बो मुनेश से पूछ लेता है !
 अंकल आप मुझे ये बताइये  आप इतने बाड़े पैसे बाले फिर आप ने इतना अच्छा  रूम  किराए पर क्यों दे दिया , और आपने किराया भी इतना  कम लिया है , और  सबसे मेंन  बात ये  आप और  आपकी लड़की  यहां तक की आपकी कॉलोनी बाले भी मुझे राजेश  राजेश  कह रहे है क्यों ?  आखिर कोण है ये राजेश और मेरा उस   से क्या  बास्ता है?  आखिर क्या ?
तो मुनेश बोलता है 
बेटा राजेश और  कोई नही मेरा बेटा था ! बो अपने स्कूल से   था तो  राश्ते में उस की स्कूल  बस का एक्सीडेंट हो गया जिस तीन बच्चे  मर गए जिन में  मेरा राजेश भी था ! मेने तो ये  गम जैसे तैसे  बर्दाश्त. कर लिया लेकिन राजेश की  इसका बहुत बड़ा सदमा पहूच गया. जिसे बो सहन नही  कर पाई और उस की भी तबियत बहुत  बिगड़ गई और हमेसा मेरे राजेश को  आओ  चिल्लाने लगी रहती है आज  राजेश को मरे हुआ पुरे ६ महीने हो गए है  लेकिन हमारे. घर में अब भी मातम सा  छाया रहता है ! ये कहते हुआ उस की आखो में  आंसू  जाते है ! 
तो सरफ़राज़ कहता है  ओ। ........
बहुत बुरा  आपके वच्चे के साथ !
और सरफ़राज़ एक दुख ज़ाहिर  है और फिर बोलता है पर अंकल  ये बताओ. के ये सब मुझे  राजेश क्यों कह रहे है ?
बेटे तुम  राजेश  की  तरहा दिखते हो तुमारा   चेहरा बिलकुल राजेश   से  मिलता है और बेटे में आपको कितने भी पैसे देने को तैयार हु आप  कुछ  दिन के लिए मेरा राजेश बन जाओ ! 
सरफ़राज़ को उस पर रहम आया और  बह सरफ़राज़ से राजेश बन गया ! दूसरे दिन उसे राजेश के कपडे पहना  कर  राजेश की माँ जी  कमरे  में थी ले जाया गया ! जब माँ की नज़र राजेश पर पाड़ी तो  बो  बहुत  खुसी  हुई और  गले से लागाया  बहुत खुस हुई !
लेकिन ६ महीने  से बीमार थी तो चल भी नही पा रही थी !
माँ बोलती है  कहां  था  इतने दिनों से बोलो अपनी माँ को. भी भूल गया   क्या  तेरे बिना इक पल की जिंदगी भी जीने का दिल नही  चाहता !     अब  तो नही जाएगा ना मुझे छोड़के  बोलो  बोलो ना... ! हां  माँ अब में आपको कहि छोड़कर नही जाऊंगा इतना कह कर रफ़राज़ का भी दिल भर आता  है और आखो में आंसू  आ जाते है. ! 
अब सरफ़राज़  ने सब काम छोड़ दिया क्यों की राजेश के पिता  बड़े  बिजनिसमैन थे  उनकी चार कारखाने थे जिनमे  करोड़ो का ब्यपार. होता था ! अब सरफ़राज़  भी पूरी तरह  राजेश ही बन  गया  था   और अब राजेश की माँ भी अच्छी हो गई थी सरफ़राज़ अब  यहाँ  के घर बालो  का एक सदश्य बन गया ! अब  सारे कारखाने  सरफ़ारज़ के नाम हो गए सरफ़राज़ अब बहुत पैसे बाला  बन गया   लेकिन सरफ़राज़ ये पता नही के सरफ़राज़ घर से कब  का  निकला है ! एक रात सरफ़राज़ को एक सापना आया की कोई  बूढी  औरत नदी के किनारे  बैठ  कर रो रही  और कुछ नाम भी ले रही है  सरफ़राज़ उस के करीब जाता है तो देखता है के  बाह तो  उस की माँ है   और बो सरफ़राज़  सरफ़राज़  बोल रही है  इतने में उस की आँखे खुल जाती है  और  बह बेट जाता है  फिर उसे अपने घर और माँ बाप की याद आने.  लगती है तो फिर  बह  याद करता   अपने  घर  से निकले  हुए  पुरे ६ साल हो गई और उस का दिल बेचान  हो जाता है ! बो याद करता है अपने माँ बाप के प्यार को ! बो  फिर   पूरी  रात नही सोया और सुबह होने का  इंतज़ार करता  है. जब सुबह होती है तो  बह  मुनेश के पास जाता जिसको अब सरफ़राज़ ने  पापा कहना सिरु  कर दिया था !
पापा मुझे आपसे जरूरी बात करनी है ! मुनेश उस के पास आता है और कहता  है
हां बोलो बेटे ?
पापा  में घर जाना चाहता  हु !
बेटे ये आपका ही तो घर है यहां रहिये खूब सोक से !
 पापा प्लेस मुझे अपने घर जाना है !
ठीक है  बेटा  लेकिन याद रखना ये जो तुम्हारी माँ है ना ये तुम्हारे. बगेर. नही रह  पाएगी  इस लिए बेटा जितना जल्दी हो सके जल्दी आ जाना  !
सुकरिया पापा म जल्दी ही  बापस लोट आऊंगा !
सरफ़राज़ अब अपने घर जाने की तैयारी कर रहा था के राजेश की माँ आती है और उससे जाने के बारे में पूछती है  तो  बह कह देता है के. म किसी मीटिंग में  जा रहा हु और मुझे 2-3  महीने लग सकते है. तो बह रोने लग  जाती है !  तो सरफ़राज़ उसे चुप पड़ता है और उसे  जल्दी आने का  पिरोमिस करता है ! सरफ़राज़ अपने घर  बालो  के लिए बहुत सरे कपडे और बहुत कीमती कीमती तोहफे  ले  और  बहुत सारे पैसे भी सात में लाता है !  सरफ़राज़   जैसे  तैसे  के  अपने घर आ गया झहां  उसका जन्म हुआ !  बो  जयपुर तक फिलाइट में और जयपुर से उसने फिर एक  अच्छी  कार खरीदी और जयपुर. से फिर अपने घर बो अपनी  कार से आया ! जब  कार उनके घर के आगे रुकी तो सब की नाजरे उस  कार पर और जब  सरफ़राज़ ने गेट खोला तो सब की निगाहें सरफ़राज़ पर  ! इतना  खूबसूरत लग रहा था के सब उसे देखते रह गए लेकिन किसी ने पहचाना नही ! सरफ़राज़ ने सालाम किया   आबाज़ सुनकर अंदर से एक ओरात चिल्लाती हुई आई ये तो सरफ़राज़ की आबाज़ है.  और ये  ऒरत सरफ़राज़ की माँ थी !  उस की माँ ने उसे देखते ही पहचान लिया और   बहो में भर लिया और गले से लिपट   कर रोने लग गई सरफ़राज़ का पिता भी उसे पहचान गया ! और पूरी. कॉलोनी में तहलका मच गया के सरफ़राज़ आ गया !
अब सरफ़राज़ से सलबाल जाबाब  होने लागे ! सरफ़राज़ ने सब साबालो  का जाबाब दिया  और उन्हें  अपनी पूरी  कहानि  सूना दी ! ये कहानि  सुन  कर सरफ़राज़ के माँ बाप उस के भाई और भाबी  को सबक सिखाने  के लिए जाने लगते है तो सरफ़राज़ मना   कर देता  है और कहता है के २  महीने बाद में आप मेरे साथ ही कोलकाता  चलोगे और अब बहां ही आप मेरे साथ उस  फेमेली के साथ रहोगेसरफ़राज़ अपने  घर बालो के साथ खूब खुसी के साथ काटता  है सरफ़राज़  यहां के गरीबो की भी कुछ सेबा पैसे  देकर करता है ! सरफ़राज़ के दो महीने पूरे होने पर बह  अपनी कार को अपने भाई को दे देता है और अपने माँ बाप को लेकर  बह अपने साथ कोलकाता ले जाता है और  बहां उसी परिबार के साथ मिल  कर रहता है और जो राजेश के माँ बाप है उनको. बह समझा देता है और फिर सब साथ मिलकर खूब खुसी के साथ रहते है

THE - END

Monday, March 5, 2018

Introduction call 【 IC 】करने का आसान तरीका

March 05, 2018 1 Comments
हेल्लो दोस्तों में  सामने कुछ ख़ास नही पर जरुरी चीज़ भी लेकर आया हु जो की DBA के बन्दों के लिए बहुत ही जरुरी है । 



जिसे हम DBA बाली भासा में ic करना कहते है ।
आज में आपको बताऊंगा के आप एक unknown person से ic कैसे करे ।
यानि जिस इंसान का हमें सिर्फ नाम और नम्बर याद है और हमें उस के बारे में कुछ भी पता नही है और हम उसे अपना एक business partner बनाना चाहते है तो उस को कैसे invite करेंगे उस के बारे में मै आज आपको बताऊंगा ।
दोस्तों जैसे हमने अपनी कंपनी का एड olx , या फिर fb पर डाला है और उस हमारे उस एड को किसी इंसान ने like किया और बो उस के बारे में थोड़ी details जानना चाहता है तो उस से कैसे बात करेंगे ...देखो...
हम ने उसे फोन लगाया ।
उस ने फोन उठाया तो उस को सबसे पहले टाइम देखकर wish करो !
जैसे good morning sir
बो बोले गुड मॉर्निंग...
तो आप बोलना के क्या मेरी बात mr. कुणाल से हो रही है ।
बो बोले जी हां में कुणाल बोल रहा हूं ।
तो आप बोलना के sir में earthy scent  Fashion  zone  Company Jaipur से ( जो भी आपका नाम है बताना ) बोल रहा हु ।
Sir मुझे आपसे जॉब के according कुछ बात करनी थी क्या आप कुछ समय के लिए फ्री हो ...?
अगर बो इंसान फ्री हो तो आप बोलना ।
सर आपका नम्बर हमें olx से जॉब के according प्राप्त हुआ है तो में ये जानना चाहता हु के आप कहि जॉब सर्च कर रहे हो...?
बो कहे जी हां में जॉब सर्च कर रहा हु ।
* तो आप पूछना के सर आपकी qualification क्या है ?
* sir आपकी age क्या है ..?
* sir आपको कोई work experience है क्या ?
* sir आप कहां से belong करते हो ?
ये सब पूछने के बाद बोलना के sir में आपको हमारी कम्पनी के बारे कुछ जानकारी दे देता हूं ।
Sir हमारी कंपनी का नाम है earthy scent fashion zone जो की पूरी तरह से फेसन पर काम करती है यानी हमारी कंपनी में only fancy item बनते है ।
हमारी कंपनी का काम ऑनलाइन प्रोडेक्ट सेल्लिंग का है जो की official work है ।
आपको हमारी कंपनी में ऑफिश से प्रोडेक्ट sell करने होते है । हमारी कंपनी के प्रोडक्ट है accessories goernments Cosmetic
Accessories means :- चश्मे , घड़ी , सूज ,जूते बागेहरा....
Goernments means :- कपडे बागेहरा...
Cosmetic means :-जिसमें लोडिज़ सिंगार का सामना होता है जो आपको ऑफीस से हो sell करने होते है ।
Sir इस में आपकी महीने के inkam 15500 से 18000 के बीच में रहति  है और फिर आपके work पर depend करती है ।
अब अगर बो बोले के sir ये sell कैसे करने होंगे , या ये sell कैसे होते होंगे ।
तो बोलना के sir आप ने Amazon Flipkart का नाम सुना है ?
बो बोलेगा जी बिलकुल सूना है ।
Sir हमारी कंपनी में भी उसी तरहा काम करती है जिस में आपका काम customer को product दिखाना  एबम उसे satisfy करना होता है ।
फिर आप बोलना के Sir sell किस तरहा से करने है क्या करना है , में कितना कमा सकता हु ये जानने के लिए हमारी कंपनी में work को अच्छी तरहा सिखहाने के लिए 4 दिन की ट्रेनिंग दी जाती है ।
 जिस में Persian को यही सिखाया जाता है के आपको prodect sell कैसे करने है । और जब 4 दिन हो जाते है तो 5 बे दिन आपका एक छोटा सा इंटरवयू होगा जिस में आपसे बो ही पूछा जाएगा जो आपको पढ़ाया जाता है । जब आप इंटरवयू में पास हो जाते हो तो आपको हमारी कंपनी में work करने का मौका मिलता है । इंटरवयू पास होने के बाद हमारी कंपनी आपको रहने के लिए शानदार फिलेट दिलाति है + आपको दोनों टाइम का खाना भी फ्री दिया जाता है ।
तो बो कहेगा के sir इस में कोई फीस बीस तो नही है ना जैसे इस में पहले पैसे देने होते हो...??
तो आप बोलना के SIR इस में कोई पैसे नही देने होते ।
ट्रेनिग बिलकुल भी फ्री है आपसे एक रूपये भी चार्ज नही लिया जायेगा ...
लेकिन जब आप आते हो तो 4 दिन आपकी ट्रेंनिग होती है ...
5 बे दिन आपका इंटरवयू होता है
और 2 दिन आपके document verification होता है तो आप कहि रुकोगे भी तो सही इतने दिन...
तो कंपनी है ना आपको रुकने के लिए एक फिलेट देती है + दोनों टाइम का खाना देती है ।
तो आपको उस रुहने और खाने के लिए कुछ चार्ज देना होता है जो की 2000 रुपये है । ये सिर्फ आप अपने लिए दे रहे हो की आप आराम से कहि ठहर कर ट्रेंनिग दे सको .....
अब सर इस में भी आपको एक फायदा है के जब आप 2000 रूपये दे कर अपने लिए रूम लेते हो तो उसमें क्या है के आपके जो snr है बो आपकी हेल्प करेंगे इंटरवयू पास होने में ...
बो आपको हर उस सबाल का जबाब बताएंगे जो की आपकी समझ से बहार हो और आप उन से कोई भी सबाल पूछ सकते हो ।
जिस से आप आसानी से इंटरवयू पास कर सकते हो ।
और यदि आप उप डाउन कर के ट्रेनिंग देते हो तो आप शायद ही ये इंटरवयू पास कर पाओ ...
फिर सब कुछ आप के हाथ में रहता है ।
फिर बो बोलेगा के सर मुझे कब आना है तो आप उस को बोलना के सर हमारी ट्रेंनिग इतने तारीख को है  तो आपको इतने तारीख को आना है ।
फिर बो बोलेगा के sir documents क्या लाने होंगे?
*  5 पासपोर्ट साइज फोटुस ।
*  आधार कार्ड 
*  पेन कार्ड
*  बैंक की डायरी
*  और 10 +2 की मार्कसीट
और हां पार्टनर को हमेशा एक दिन पहले बुलाओ ।
और जब ट्रेंनिग में कम से कम 4 दिन बाकि तब ये काल करना है क्यों की एक दिन तो तुमने कॉल किया है बो दिन गया फिर दूसरे दिन बन्दा सोचता है के क्या किया जाये और तैयारी करता  + 2000 रुपयो का इंतज़ाम करता है ।
फिर बो तीसरे दिन अपने घर से रबाना होता है ।

इस लिए जब ट्रेंनिग यदि 10 तारीख की है तो आप 6 तारीख को ic करो ।
फिर 8 तारिक को किसी snr से confirmation call कराओ जिस से ये पता लगेगा के पार्टनर आ रहा है या नही ।
ये ic करने का तरिका है । और अगर कुछ आपकी समझ में नही आया हो तो comments में अपनी राय जरूर देना ।


Wednesday, February 7, 2018

हमारे Business की पूरी जानकारी

February 07, 2018 0 Comments
हेल्लो दोस्तो कैसे हो....?
मैं आज आपको कुछ ऐसी चीज़ लेकर आया हु जिस की हर इंसान को जरूरत होती है । और उसे पड़ कर आपका दिल खुश हो जाएगा...!
जी हाँ....
आज मैं आपको बताऊंगा के हम बिजनेश और बो भी बिल्कुल कम पेसो में कैसे सिरु कर सकते है । और बो भी बिल्कुल एक दम अच्छा और BIP बिजनेस ।
दोस्तो थोड़ा सा पैसा जरूर लगेगा लेकिन बो आपकी जिंदगी बदल कर रख देगा और आगे आने बाले महगाई के जमाने मे बो हमारा खूब साथ निभाएगा ।
दोस्तो आप से बस के गुजारिस है के PLEASE आप पूरा पड़े तभी आपके समझ मे आएगा के हम कम पेसो में और एक अच्छा बिज़नस कैसे तैयार करे...??
दोस्तो मैं जिस कंपनी के मिलकर बिजनेस करने की बोल रहा हु उस कम्पनी का नाम है DBA ..
मुझे पता है DBA का नाम सुनते ही आपके दिमाक में नए नए  negative question आने सिरु हो गए होंगे । लेकिन आप कृपया एक बार पूरा पदों तभी आपके समझ मे कुछ आएगा और मैं ये बादा कर रहा हु के आप ये बिजनेस जरूर करेंगे बस आप इसे अच्छी तरह समझो फिर अपना खुद का फैसला लो ...
दोस्तो मेने खुद ने इस कंपनी के साथ मिल कर अपना बिजनेस सिरु किया और मात्र 90 दिनों के अंदर मेने अपने खुद के पेसो से एक अच्छी गाड़ी खरीद ली और मैं आज अच्छा पैसा भी कुमा रहा हु ...!
और मैं ये बादा करता इस बिजनेस को जरूर करोगो लेकिन उस के लिए आप थोड़ा इसे गौर के साथ पड़ो ।
कंपनी है DBA
D= DYNAMIC
B= BENEFICIAL
A= ACCORD marketing private limited company
ये कंपनी प्रारम्भ हुई थी
11:11:2011 में
दोस्तो इस कंपनी ने 5 साल तक ऑफलाइन ही काम किया लेकिन बढ़ते इंटरनेट के साधन + लोगो के बक्त को देखते हुए ये कंपनी 7 दिसंबर 2016 को ऑनलाइन हुई और फिर तो ये एक दम जंगल की आग की तरहा हर शहर में फेल गई और कई बेरोजगार लोगो को रोजगार दिलाया उनका खुद का बिजनेस कर के ...!
दोस्तो मैं जिस कंपनी की बात कर रहा हु उस के बेस तो कई जगह सेंटर है लेकिन मैं जहां अपना बिजनेस करता हु बो
जयपुर में है ।
उस का पता है :- पिलोट नंबर 489, ओमैक्स सिटी , बाद के बालाजी अजमेर रोड ,
अब आप सोच रहे होंगे कि इस से हमे क्या मतलब हमे तो ये क्या काम करती है बो देखना है तो दोस्तो मैं बताता हूं के कंपनी का काम क्या है -:- दोस्तो इस कंपनी ने फैसन के साथ डील कर रखी है । यानी ये कंपनी हर उस प्रोडक्ट को बनाती है जिस से इंसान फेसन करता है
जैसे :- इस के प्रोडक्ट है
Gouernment 【 यानी जिस में हर तरह के कपड़े आते हो 】
accessories
Cosmetic
दोस्तो अब आप सोच रहे होंगे कि हर चीज़ का एक ब्रांड होता है जिस से बो अच्छी तरह से सेल होता है क्या इस का भी कोई ब्रांड होगा ?
तो मैं कहूंगा कि हाँ....!
इस कंपनी के दो ब्रांड हक़ी
【1】ifazon
【2】earthyscent
【3】 Mr huff man
अगर बात की जाए इसकी ब्रांच की तो इस के 70 से भी ज्यादा अब तक ब्रांच हो चुकी है ।
Achienement =}  दोस्तो इस कंपनी ने जहां भी अपना झंडा गाड़ा बो सक्सेज ही हुआ और जब कोई चीज़ अच्छी तरह से चलने लगे तो उस का टैक्सेज भी देना होता है तो इस ने पंजाब सरकार को एक साल का 8.5 करोड़ टैक्स दिया ! और दोस्तों आप ये बात अच्छी तरह जानते हो की इतना tex pay कंपनी तभी कर सकती है जब कंपनी एक दम फेल जाये और चलने लगे तो दोस्तों ये सब कुछ ऐसा ही हुआ के कंपनी अच्छी तरहा चलना क्या दोस्तों कंपनी तो दौड़ने लगी यारो और इस ने कुछ ही दिनों में लाखो लोगो को लाखों रूपये का business दिया । आप भी कर सकते हो पर मै आपको आपका भी प्रोसेस बताता हूं ।
जैसे की मेने आप को बता दिया है के इस कंपनी ने फेसन के साथ डील कर रखी है अब आप सोच रहे होंगे की इस कंपनी ने फैसन को ही क्यों चॉइस किया :- तो मै आप को बता दू के जो फैशन है बो इंसान के जन्म लेते ही सिरु हो जाता है और जब तक उस की म्रत्यु हो तब तक उस के साथ होता है ।
बो ऐसे के जब बच्चा पैदा होता है तो उस को जिस तौलिये में लपेट कर जो नर्स आती है बो भी एक फैशन है । फैशन हमेशा बढ़ता ही जायेगा ।
फैसन दिन पर दिन बढ़ता ही चलाता है ।
तो दोस्तों आप शायद समझ गए होंगे की कंपनी ने फैशन को ही क्यों चोहिस किया है ।
दोस्तों

Thursday, November 23, 2017

10th पास युवक - युवतियों के लिए नौकरी और 100% जोइनिंग तनखा 15500 + रहना और खाना

November 23, 2017 0 Comments
10th पास युवक - युवतियों के लिए जॉब और 100% जोइनिंग तनखा 15500 रहना खाना फ्री
 हेल्लो दोस्तो.....


दोस्तो यकीन नही हो रहा होगा ना ???
मुझे भी नही हुआ था लेकिन ये सच है और अभी तो आपकी आंखें फटी के फटी रह जाएंगी जब आप इस के आगे और दी जाने बाली सुभिधाओ के बारे के सुंनेगे । जी हाँ अभी तो बहुत कुछ बाकी है ।
पर पहले थोड़ी मेरी बात । दोस्तो आपके हमारे और हर इंसान का कोई ना कोई सापना होता है के में ऐसा कोई काम करू जिस से मेरी लाइफ सेट हो जाये । लेकिन दोस्तो इस महगाई के जमाने मे इंसान को दो बक्त की रोटी जुटा पाना मुश्किल हो जाता है । और इसी मुश्किल को दूर करने के लिए हमारी कंपनी हर उस इंसान को ले रही है जिस का कोई सपना हो और बो उसे पूरा नही कर पा रहा हो , इंसान के अंदर एक जज्बा होना चाहीये की बह अपने आप को बदल सके
 What's work... काम क्या करना होगा :- कंपनी में काम है online prodect selling  , मतलब आपको ऑनलाइन सामान को बेचना है जो कि official work  है । ये work सिर्फ ऑफिस से ही होगा ना कि घर घर जाकर । आपको ये काम कम्प्यूटर से ही करना होगा

    How long duty... काम कब से कब तक रहेगा :- इस मे काम करने का समय है सुबह 9:00 बजे से दोपहर 3:00 बजे तक ।
Salary What will  be happen :- तनखा क्या होगी :-   शरुआत में आपकी इनकम 15500 से चालू है और फिर जितना ज्यादा आप काम करते हो prodect sell करते हो बेसे ही आप ज्यादा इनकम भी प्राप्त कर सकते हो । और 3:00 के बाद आप 5:00 बजे तक over taim भी कर सकते हो
Where will i live :- रहने खाने का क्या होगा :-  रहने और खाने का पूरा खर्च कंपनी ही उठाएगी । 
                                       
  How will admission?... :- कंपनी को जॉइन कैसे करेंगे ?...:-    दोस्तो इस कंपनी  में जब आप जाओगे तो पहले आपकी 4 दिन ट्रेनिंग चलेगी जो कि फ्री दी जाएगी । आपको कंपनी के बारे में अच्छे से पढ़ाया जाएगा , आपको किस तरीके से काम करना होगा वो भी सिखाया जाएगा  । जब आप  4 दिन की ट्रेनिंग लेते हो तब 5 बे दिन आपका Interview होगा । यदि आप Interview मे पास हो जाते हो तो आपका एक ID CARD बनेगा जिस से आप को लाइफ टाइम के लिए एक फिलेट मिलेगा औए खाना भी कंपनी की तरफ से ही मिलेगा । ये तभी होगा जब आप Interview पास कर लेते हो इस से पहले कंपनी अपने Flat मे रखने की अनुमति नही देती ।  यदि आप का कोई   Relative जयपुर में रहता है तो आप वहां रुक सकते हो और आपका कोई में Relative नही रहता हो  और आप फिलेट पर रुकना चाहते हो तो आप रुक सकते हो लेकिन आप फिलेट पर रुकोगे तो कंपनी आप से 2000 रुपये लेगी इन पेसो में कंपनी आपको रहना + खाना और पूरी फेसलिटी देगी + आपके सीनियर जो इस में काफी टाइम से work कर रहे है उनसे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा जो आपका Interview पास कराने में आपकी हेल्प करेंगे । और यदि आप Interview पास कर लेते हो तो फिर उस के बाद में आपका कोई चार्ज नही लेगी ! Lifetime के लिए आपका रहना + खाना फ्री ।
What is training time ?...:- प्रशिक्षण का समय क्या है?..:- ट्रैनिंग का समय सुबह 8:00 बजे से चालू है और दोपहर 2:00 बजे तक होगा । यदि कोई parsan अगर 10 मिनट भी लेट होता है तो उसे प्रबेश नही दिया  जाता है ।
When are the vacancies released in the company? :-
 कंपनी में जगह कब निकलती है :- दोस्तो ये कंपनी 11/11/2011 को 11:11:11 पर चालू हुई थी तब इस के अंदर सिर्फ ऑफलाइन ही काम होता था । फिर बढ़ती फेसलिटी और इंटरनेट के फैलने के कारण लोग अपना सामान फिर इंटरनेट से यानी ऑनलाइन मंगाने लगे तो इस कंपनी ने भी अपना काम ऑनलाइन 2016 में ऑनलाइन शरू कर दिया । और इस मे इसे काफी अच्छा लाभ दिखा । फिर ये बढ़ती चली गई और बढ़ने के साथ साथ इस मे students की भी जरूरत बढ़ती चली गई । और इस कंपनी में हर महीने में दो बार युवक - यूवतियो की जोइनिंनग होती है ।। 
     How much date is joining now?...
अब कितने तारिख को ट्रेनिंग होगी?.... :- ये तारीख इस कंपनी के अधिकारी ही तय करते है लेकिन हर महीने में दो बार जरूर होती है ।
Document क्या चाहिए :-  कम से कम 10th पास ।
Age ( उम्र ) :- 18 से 27 के बीच मे ।
What is the address? :-
कंपनी का पता क्या है :- कंपनी इंडिया  में काफी जगह फैली हुई है लेकिन इस मे जोनिंनग होने के लिए पहले जयपुर आना पड़ता है यही आपकी ट्रेनिंग होगी ।   
   इस का address है :-'' plot no. 489 Omax city Bad ke balaji Ajmer road , Jaipur "     
दोस्तो ये तो थी कंपनी की पूरी जानकारी 
धन्यबाद ...............                                                                                                                       

Thursday, July 27, 2017

आत्मबिशबास है तो आपकी जीत है । जिंदगी सफल कैसे.?ऐसे.! पड़ो....!

July 27, 2017 0 Comments

एक साँस सबके हिस्से से हर पल घट जाती है, 
कोई जी लेता है जिंदगी किसी की कट जाती है।




दोस्तो आज हम कितने साल के हो गए ये हर इंसान अपने बारे में जानता है ,
लेकिन कितना और जियेंगे ये किसी को पता नही ।  दोस्तो मौत और ज़िन्दगी का कोई भरोसा नही कब ये जीबन की सांस की डोर टूट जाये कब जीबन के बक्त की घड़ी थम जाए ये किसी को नही पता । तो ऐसे में जिदगी जिंदगी को  जियो खुलकर जियो अगर जिंदगी में कोई टेंसन हो तो उसे शेएर करो अपने माता पिता से दोस्तो से या अपने पार्टनर साथ जिस से टेंसन का हल निकले ओर टेंसन हल्की हो । दोस्तो जिन्दगो को जीने के लिए आत्मनिर्भर और आत्मबिशबास बहुत जरूरी है दोस्तो अगर आत्म बिसबास इंसान के अंदर हुआ तो उस के लिए किसी पहाड़ को तोड़कर दूसरी जगह करना भी आसान लगेगा । और बो हर काम को कर सकता है । एक बात और कभी भी दूसरों के भरोसे में आकर कोई काम ना करे ...!
आप तो अपने ऊपर बिसबास करो बस ।
सुनो सब की लेकिन करो मन की । आपके मन मे जब तक ये बात है के मैं सही हु और ये काम मैं  कर सकता हु तब तक आपकी जीत है । जब आप के मन ने हार मान ली तो समझो के आप हार गए । चाहे आप कोई काम करो या ना करो । दोस्तो आज मैं आपको कुछ इस तरह ही एक कहानी लेकर आया हु  जो कि  जिसे आप पड़ कर सायद हसेंगे भी और उस से कुछ सिक्छा भी प्राप्त करेंगे । चलिए दोस्तो अपनी उस कहानी पर आता हूं ।
दोस्तो एक गांब में एक बूढ़ा ब्यक्ति रहता  था जिस का नाम था । दीनदयाल ....
दीनदयाल बहुत ही चालाक किस्म का इंसान था लेकिन बो दुसरो की बातों पर कभी कभी बिसबास कर लिया करता था जिस से बो कभी ठग भी जाता था   बो बुजुर्ग जरूर था लेकिन उस के सरीर में अब भी इतनी फुर्ती थी के जब बो चलता था तो जबान आदमी भी उस की चाल में पीछे रह जाये करते थे । दीनदयाल अपने एक छोटे से परिबार के साथ रहता था उस के परिबार में कुल चार सदस्य थे दो तो दीनदयाल और उस की पत्नी और एक उस का लड़का  और उस की  बच्ची । एक दिन दीनदयाल ने पड़ोस बकरी बाले से थोड़ा सा बकरी का दूध मांगा  लिया  तो उस ने दीनदयाल को फटकार कर मना कर दिया और कुछ ऐसी भी बाते बोल दी जिस से अपने बह मन ही मन प्रण कर बेठा के अब तो साली बकरी ही लानी है । चाहे कुछ भी हो जाये मैं आज एक बकरी ही खरीद कर मानूँगा



 ! बस फिर क्या था बो बकरी खरीदने दूसरे गांब के लिए चल दिया । और अपने घर से 20 -  25  किलोमीटर दूर पैदल पैदल चल कर बो एक बकरी खरीदने में कामयाब हुआ ।
जब बो वँहा  से आ रहा था तब चार ठगों की नज़र उस पर पड़ी । और उनमे से एक  बोला
:- रे बापू बकरी तो घनी जोर की है  भाइयो इस बाबे से तो ए बकरी मानह घाड़नी है ।
दूसरा बोला :- अरे हाँ भाइयो चलो इस बुजुर्ग को बेबकूफ बनाते है और इस बाकरी को इस से लूटते है ।
:- तीसरा बोला :-आ रे  इस बुड़ाऊ को मैं अच्छी तरह जानता हूं ये दीनदयाल है बहुत चालाक बुड्ढा है ये किसी के बाप पर भी बेबकूफ नही बन सकता । चौथा बोला :- रे तुम लोग कोहू चिंता ना करो मेरे पास एक ऐसा आइडिया है के बुड्डा अपने आप इस बकरी को हमारे हबाले कर देगा बो भी बिना किसी लड़ाई झगड़े के .....!!!!!
  तीनो उस की तरफ देखे और उसने अपना पिलान बताया ।
दोस्तो उस का पिलान बाकी दमदार था के बो बुजुर्ग अपनी बकरी को हस्ते हस्ते उसे दे गया अब मैं बताता हूं के क्या पिलान बनाया  था  उन्होंने...👌👌
बो चारो चार किलोमीटर तक फैल गए यानी जिस रास्ते से बो बुजुर्ग गुजर रहा था तो बो उस रास्ते  पर एक एक किलोमीटर दूर चले गए । सबसे पहले उस बुजुर्ग को एक ठग मिला और बुजुर्ग के पास आकर बोला :- अरे काका नमस्ते
बुजुर्ग सोचते हुए ..... नमस्ते
अरे काका आप का कुत्ता तो बड़ा सुंदर है अरे बाह कितना प्यारा लग रहा है ।
बुजुर्ग ने उस को गौर से देखा और सोचने लगा के पागल तो नही है ये और बोला के अबे भड़बे तुझे ये कुत्ता दिखता है पागल तो नही हो गया है तू ?
तो ठग बोला अरे काका क्या बोल रहे हो ये कुत्ता है ....! आपकी आंखें तो ठीक है ना ...?
तो दीनदयाल को गुस्सा आया और गुस्से में बोला के हॉ कुत्ता है तुझे क्या चले जा नही तो साले पसलियो में हबा भर दूंगा ।  कुत्ता बता रहा है साला हमे बेबकूफ समझ रहा है ।
दीनदयाल उसे छोड़ कर आगे बढ़ जाता है और चलते चलते बो एक किलोमीटर दूर पहुच जाता है तो उसे दूसरा ठग मिल जाता है ठग उसे देखकर उस के पास आता है और बोलता है
रे काका प्रणाम ....
दीनदयाल उसे देखता है और बोलता है प्रणाम ।
तो बो ठग बोलता है के काका तुम्हारा कुत्ता तो घनी जोर का है । कितने का लाया इसे । काठता तो नही है न ये...?
दीनदयाल उस की तरफ गौर से देखता है के इसे कुछ दिख रहा है या नही ।
फिर बोलता है के तुझे कुत्ता दिख रहा है ये ....
अबे तेरी आखो में ऑइल डाल के आ अंधे ये मेरी बकरी है पागल समझ रहे हो क्या तुम मुझे ???
बो ठग बकरी का नाम सुन कर जोर जोर से हँसने लगता है  और बोलता है बकरी....????
अरे बाबा तुम्हारा दिमाक तो खराब नही हो गया इसे किसी के सामने बोल और मत देना के ये बकरी है बरना लोग आपको पागल समझेंगे ।
दीनदयाल को गुस्सा आया और बो उसे भासन सुनाते हुए आगे बढ़ गया  । जब बो एक किलोमीटर दूर पहुच गया तो उसे तीसरा ठग बोला
रे बाबा कहा जा रहे हो ???
अपने घर जा रहा हु बेटा ।
रे ये कुत्तो कहा से लायो भारी अच्चो लाग रायो ।
दीनदयाल को गुस्सा आया पर कुछ ना बोला और आगे बढ़ लिया लेकिन अब  बो उस बकरी को बार बार देखता है और फिर अपने सिर को खुजराता । बो बार बार उस के मुँह और उस के थून और  बार बार कहता के ये बकरी है ये नालायक झूठे है  फिर सोचता के यार जो भी  मिल रहा है बो यही बोल रहा है ।
बो फिर चल दिया  ! फिर एक किलोमीटर चलने के बाद उसे चौथा ठग मिला
और बोला के रे बाबा के हाल है । कहा जा रहे हो  अपने कुत्ते के साथ ।
अब तो दीनदयाल से भारी हो गई और गुस्से में उससे बोला के तुझे ये कुत्ता दिख रहा है क्या । ये मेरी बकरी है जो अभी ले कर आया हूं ।
चौथे ठग ने बहुत डेंजर एक्टीनग की रे बाबा पागल हो गए हो क्या गांब बाले तो दूर घर बाले भी तुम्हे अपने घर मे घुसने नही देंगे अगर तूने इसे बकरी बताया तो
ये कुत्ता है मैं कुत्ता और बकरी में अच्छी तरह फर्क जानता हूं ।
दीनदयाल ने अब मान लिया के ये कुत्ता है क्यो की इतने आदमी नही बोल सकते ऐसा ।
अब दीनदयाल सोचने लगा के अगर मैं इस को घर ले जाऊंगा तो मेरे बच्चे और बीबी तो मुझे पागल समझेंगी । तो बो उस बकरी की रस्सी को उस इस चौथे ठग के हाथों में थमाकर बोला के ये कुत्ता आपको अच्छा लग रहा है ना तो कृपया कर के आप ही इसे ले लो । इतना कह कर बह अपने गांब फिर की ओर चल दिया । और अपने घर आ गया ।
 यानी
दीनदयाल हिम्मत हार गया क्यो की उस का आत्मबिशबास कमजोर था । तो दोस्तो असली में तो आपको इस कहानी से ये समझाना चाहता हु के इंसान का आत्मबिशबास जब तक जिंदा है तब तक इंसान जिंदा है यानी बो इस जमाने से लड़ने की ताखत रखता है ।  फिर बो इस जिंदगी को अपने दम पर जीने का साहस रखता है और दोस्तो जिस का आत्मबिशबास कमजोर है बो या तो दूसरों के टुकड़ो पर जियेगा या भीख मांगेगा । तो दोस्तो हिम्मत मत हारो कोई भी काम हो अगर बो काम तुम्हारे लायक है तो ना ही तो समय का इंतज़ार करो और ना ही किसी सलाहकार का । बस उसे कर डालो , तो एक नया एक बार तो जरूर कामयाबी हासिल होगी । 

Wednesday, July 12, 2017

मजलूम की बद्दुआ फिर खुदा का कहर

July 12, 2017 0 Comments

दोस्तो गरीबी एक ऐसी चीज़ है जिसे सिर्फ गरीब ही बता सकता है के गरीबी क्या चीज़ है । गरीब की फरियाद को कोई नही सुनता । हर काम मे गरीब को पीछे खड़ा किया जाता है उसे काम कराया जाता है और जब  अपनी मेहनत मांगता है तो हम उस के काम मे नकल निकलने लगते लगते है । दोस्तो बक्त हर इंसान का एक जैसा नही होता है । बदलता रहता है  ....
और किसी ने क्या खूब कहा है के

    ,,   मत सता किसी गरीब को , ये गरीब रो देगा ।     और गरीब की सुन ली उस खुदा के तो तू अपनी हस्ती खो देगा । ,,

दोस्तो आज की कहानी एक ऐसे ही गरीब की है जिसे पड़ कर आप सायद नम हो जाएंगे ।
दोस्तो बात बहुत पुरानी है लेकिन सच है । के मुल्तान के अंदर एक बहुत ही रहीस परिबार रहता था । जिनके पास एक गरीब परिबार नौकर के रूप में काम करता था । पर  दिल का बहुत अच्छा सीधा साधा था । एक दिन उस गरीब के घर मे कोई फंग्सन था जिस के कारण बो अपने मालिक के घर काम करने नही जा सके थे  । उन्होंने कुछ छोटा मोटा खाना बनाया और मिठाई में बेसन के लड्डू बनाये थे । जब सब लोग खाना खा  चुके और दूसरे दिन जब बो अपने मालिक के घर गए । उन का मालिक जिस का नाम था कासिम बो बड़ा ही दिलदार इंसान था लोगो पर दया करने बाला था । जब बो बहाँ गए तो उन के मालिक ने उन से कुछ नही कहा और खुसी से उन का तोफा ( बेसन के लड्डू ) को कुबूल कर लिया । लेकिन मालकिन उन के एक दिन के ना आने पर बड़ी ही गुस्से में थी और बो जो लड्डू थे अपने पति के हाथ से छीन कर फेंक दिए । और उन्हें मार पीट कर काम से निकाल दिया और दूसरे नौकर को लगा लिया । इस से पहले की कासिम कुछ कहता उस ने खुद को मारने की धमकी दी । जिस से बो कुछ नही बोल सका । बो बेचारे अपने घर आ गए । लेकिन सायद खुदा को ये बात पसन्द नही आई और अब उस औरत पर  खुदा का कहर टूटा । जब दुपहर हुई और बो जब खाने के लिए बैठे । उन के सामने खाना लाया गया । कासिम ने खाना सिरु कर दिया लेकिन जब उस औरत ने खाने को हाथ लगाया ऐसे ही उस खाने में कीड़े पड़ गए , खाने से बहुत बुरी बदबू आने लगी  


 । बो खाने की जिस चीज़ को भी हाथ लगाती उस मे कीड़े पड़ जाते और खतरना बदबू आने लगती ।  उन की हालत खराब होने लगी । क्यो की उस ने सारे खाने को हाथ लगा दिया था तो पूरा खाना बदबू मारने लगा।  अब जो भी खाना उस के सामने लाया जाता और बो उस के जैसे ही हाथ लगाती तो उस मे से बदबू मारने लगती और कीड़े पड़ जाते । घर का पूरा खाने का सामान था बो सब इसी तरह हाथ लगाने से सड़ गया था । उस के चक्कर मे बेचारा कासिम और भूका मर रहा था । क्यो की बो उसे अब ऐसे हाल में अकेला नही छोड़ सकता था । बो उसे लेकर बहाँ से चल दिया और अपने एक बहुत ही जिगरी दोस्त के यहां चला गया जो कि बहुत रहीस था । बहाँ जाकर इस ने भूक का इज़हार किया तो इस दोस्त ने बहुत तरह का खाना और मेबे उन के खाने के लिए पेस कराये । कासिम ने सोचा के यदि इन के सामने इस ने हाथ लगाया और ये खाना खराब हो गया तो मेरी इज़्ज़त खराब हो जाएगी । और मेरा दोस्त मुझे यहाँ से भगा सकता है । तो कासिम बोला के दोस्त ये मेरी बेगम बड़ी सरमीली है ये किसी के सामने खाना नही खाती । अगर आप बुरा ना मानो तो कुछ देर के लिए हमे अकेला छोड़ दो और हमे जब किसी चीज़ की जरूरत पड़ेगी तो मैं आबाज दे लूंगा । दोस्त को इस बात से कोई एतराज नही हुआ और उसने अपने सारे नौकरो को बहार आने का हुक्म दिया और और उन्हें अकेला छोड़ दिया । कासिम ने पहले उस से खाने के लिए कहा और जब उस की बीबी ने खाने को जैसे ही हाथ लगाया तो उस खाने में से बदबू आने और कीड़े पड़ने सिरु हो गये । बो जिस प्लेट को भी हाथ लगाती उस प्लेट में से बदबू आने लगती और कीड़े पड़ जाते । ऐसे ही ऐसे कर के सारी प्लेटो में कीड़े पड़ जाते । कासिम ने जल्दी से सारा खाना इखट्टा किया और उसे पीछे की खिड़की से बहार फेक दिया आज फिर उन्होंने पानी से काम चलाया । कासिम अपनी बेगम से इतनी मुहब्बत करता था के उस से पहले खाना नही खाता था । तो बेचारा बो भी भूक से परेशान । उन्होंने नौकरो को आबाज लगाई और सारी प्लेट हटाने का हुक्म दिया । नौकरो ने ताज़्ज़ुब उनकी तरफ देखा कि इतना सारा खाना और ये कैसे खा गए होंगे । कासिम के दोस्त ने जब उन्हें गंदा सा देखा तो उसने उन्हें नहाने का इज़हार किया । तो कासिम की बेगम नहाने के लिए ( गुसल खाना )बाथरूम में नहाने की लिए गई । उससे थोड़ी देर पहले कासिम के दोस्त की बेगम नहा कर निकली थी उस ने अपना नौ लखा हार जो बहुत ही महंगा था बाथरूम में ही भूल गई ।


 कासिम की बेगम जब नहाने के लिए घुसी और कुंदी लगाई तो देखती है के जिस खूटी से बो हार लटका हुआ था उस खूटी ने अचानक ही उस हार को निगल लिया और बो हार वँहा से गायब बेगम ने जब ये सब देखा तो उस के होश उड़ गए । बो बिना नहाये जल्दी से बहार निकली और कासिम को आबाज दी कासिम जल्दी से उस के पास तो उसने सारी दास्तान सुना दी । कासिम अब टेंसन में आ गया के यदि हम इस बात को  और लोगो को बताएंगे तो कोई हम पर बिसबास भी नही करेंगे और हमे चोर समझ कर हमे बदनाम करेंगे जो अलग.....!  जेल में भी डाल सकते है । तो बो वहां से चुपके से भाग लिए और बहुत दूर निकल गए । उधर जब उस रहीस की बीबी को अपना हार याद आया तब बो उसे लेने गई और जब खूटी देखती तो उस पर हार नही था उस की बेगम जल्दी से अपने सोहर ( पति ) को बुलाती है और कहती है के आपका दोस्त मेरा नौ लखा हार लेकर भाग गए  ।
  तो उसने कहा के ये झूट है मेरा दोस्त ऐसा नही कर सकता बहां ही देखो कहि पड़ा होगा ।
बेगम = मेने सब जगह देख लिया है मुझे कहि नही मिला । बो ही लेकर गए है । अगर बो नही लेते तो यहाँ से क्यो चोरी छुपे भागते?
उस रहीस को कुछ समझ मे नही आ रहा था क्यो की उसे अपने दोस्त पर पूरा बिसबास था । लेकिन उस ने सच्चाई का पता करने के लिए अपने कुछ सेनिको को उसे ढूंढ कर लाने के लिए कहा । उधर बो चलते चलते एक नदी के किनारे पहुच गए उन्होंने बहां पानी पिया और बैठ गए लेकिन अब उनकी हालत ये थी के अगर उन्हें एक दिन और खाना नही मिला तो उनकी मौत हो सकती है । अब उस की बेगम को सारी गलती का अहसास हो गया और उसने बो नौकरानी के साथ गलत ब्यभार करने बाली  बात अपने पति बताई और माफी का इज़हार किया ।
कासिम ने अपना मुंह आसमान की तरफ किया और फिर नदी के किनारे से कुछ गीली मट्टी ली और उस के दो चार मोठे मोठे लड्डू बनाये और उन्हें अपने सामने रखा फिर अपनी बेगम से कहा के अपने रब ( ईशबर ) से माफी मानगो और दुआ मानगो । बो दोनो हाथ उठा कर और रो रो कर माफी मांगने लगे । इतना रोये इतना रोये के आसुओ से उनका दमन भीग गया । तो अचानक ही उन्हें बहुत अच्छी खुसबू आने लगी । ऐसी खुसबू उन्होंने अपने जीबन में कभी नही सूंघी । जब उन्होने अपनी नजर सामने की तो देखते है की जो मिट्टी के लड्डू थे बो देसी घी और फुल मेबा मिस्ठान के बन गए थे ।






 उस बेगम ने कहा के आप भी भूखे हो सायद ये दोबारा खराब हो जाये क्या पता ? इससे अच्छा है के पहले आप खा लो उसके बाद मैं कहा लूंगा ...!
तो कासिम ने कहा के ये नेमत हमे खुदा की तरफ से मिली है  अब हमारा खुदा हमसे राजी हो गया है पहले आप ही नोश्त फरमाए (खाये)  । बेगम ने डरते डरते उस के हाथ लगया तो कुछ भी नही हुआ ! उन्होंने जब उसे खाया तो ऐसा खाना उन्होंने पूरी जिंदगी में नही खाया । खाने से जैसे ही फ्री हुए इतने में बो रहीस दोस्त के सैनिको ने उन्हें गिरप्तार कर लिया । कासिम ने बो बचे हुए लड्डू जल्दी से एक कपड़े में डाले और उन सेनिको के साथ चल दिया  । कासिम उस रहीस दोस्त के पास गया तो उस पूरे महल में उन लड्डूओ की खुसबू फेल गई । इस से पहले की कासिम कुछ बोलता उस रहीस ने उस खुसबू के बारे पूछा जो कि बड़ी जोरो से आ रही थी । तो उसने बो पोटली उस के सामने की । रहीस ने जब उस मे से चखा तो बो उस का दबाना हो गया । और बोला के आप मेरे महल की सारी दौलत ले लो लेकिन मुझे ये बता तो की ये चीज़ कहां मिलती है । कासिम ने अपने रहीस दोस्त को सिरु से end  तक का पूरा किस्सा सुनाया । उस की बेगम फिर गुसलखाने (बाथरूम ) में गई और उस खूटी की तरफ देखा तो बह हार उसी जगह लटका हुआ था । उसे अपने गलती का अहसास हो गया । उधर कासिम की बेगम को भी अपनी गलती का अहसास हो गया और अब बो इतनी सरीफ हो गई के जब तक किसी गरीब को खाना नही ख़िलादेती बो खाना नही खाती थी ।
तो दोस्तो आब सायद आप समझ गए होंगे कि चाहे गरीब का कोई साथी नही होता  । लेकिन उस का साथी ईशबर रहता है और जब ईशबर अपनी सजा सुनाता है तो आदमी की रूह कॉफ उठती है । इस लिए दोस्तो अगर आप गरीब से कुछ लेना  चाहते हो तो उससे सिर्फ दुआ लो ... बद्दुआ नही  ! क्यो की मज़लूम की बद्दुआ कभी खाली नही जाती ।

Friday, May 5, 2017

फ्री में अपनी बेबसाइट बनाये और इंटरनेट पर धमाल मचाये साथ ही पैसे कुमाये

May 05, 2017 0 Comments

जी हॉ दोस्तो .... मज़ाक सा लग रहा होगा जब मैने ये बात लिखी तब । लेकिन ये सच है । दोस्तो पहले मैं आपको कुछ उदहारण देता हूं के हम खुद ही अपनी आँखों से देखते है के कोई इंसान जो कि बहुत पड़ा लिखा है और बेरोजगार है और मजबूरन उसे ऐसा काम करना पड़ रहा है जो कि उस के सांन के खिलाफ है लेकिन क्या करे और कुछ चारा नही है । और एक इंसान ऐसा है जो कि सिर्फ 10 बी पास है लेकिन अच्छा खासा पैसा कुमा रहा है । कैसे ...? अरे अपने दिमाक को इस्तमाल कर के यार । दोस्तो ये जरूरी नही के हर धनदे को पैसा लगा कर ही सुरु किया जाए और उस से फिर पैसा कुमाये जाए । दोस्तो आज मैं आपको इस इंटरनेट की दुनिया मे लेकर चलता हूं जहां पर करोड़ो लोग रोजगार प्राप्त कर रहे है । तो हम क्यो नही...???? अरे हम भी कर सकते है । अपने घर पर बैठे बिठाये ।
जी हाँ दोस्तो ..... अजीब सा लगा ना...???? दोस्तो मुझे देखो !! मैं आज इंटरनेट पर से खूब अच्छी इनकम पा रहा हु । बस मेने थोड़ी महनत की ।
महनत भी ऐसी की के पूरे दिन में 30 मिन्ट्स के लिए अपनी बेबसाइट पर कुछ अच्छी सी चीज लिख दी और लोगो ने उसे पड़ा फिर इंटरनेट से पैसा सीधा मेरे अकाउंट में .... क्या आप चाहते है ऐसा ।अब आप सोच रहे होंगे कि चाह तो रहे है लेकिन हमारे पास कम्प्यूटर तो है ही नही ...?

अरे मोबाइल तो है ना ...????

मैं भी तो मोबाइल से ही काम कर रहा हु यार .... तो तैयार हो ना ......अब चलो  तो मैं आपको बताऊंगा के इंटरनेट से कैसे पैसा कुमाये जाता है ।
दोस्तो सब से पहले हमें अपनी बेबसाइट बनानी है । अब आप सोच रहे होंगे कि बेबसाइट बनाने के लिए तो पैसे लंगेगे ।
जी हाँ दोस्तो आप ने बिल्कुल सही सोचा । बाकई पैसा लगता है लेकिन मैं आपको फ्री में बनाना सिखाऊंगा  और जिस पर हम काम कर के बहुत अच्छी खासी इनकम पा सकते है । दोस्तो आप ने blogger का नाम सुना होगा ??? अगर नही तो मैं बताता हूं के ब्लॉगर google का ही एक प्रोजेक्ट है 




जिस पर यदि हम अपनी बेबसाइट बनाते है और हम उस साइट पर अच्छी अच्छी चीज लिखते है तो लोग उस स्टोरी को पड़ेंगे और पढ़ने पर google को फायदा होगा जब उसे फायदा होगा तो हम को बो कमीसन देगा और कमीसन सीधा हमारी बैंक में आ जायेगा । कैसे आएगा बो भी मैं आपको बताऊंगा लेकिन पहले आप  को मैं बेबसाइट बनाना सीखा देता हूं ।

दोस्तो सब से पहले हमें कोई भी ब्राउज़र ओपन करते है और उस मे लिखते है google 



और जब उस मे google खुल जाता है तो तो हम उस मे लिखते है www.blogger.com

फिर उस मे कुछ इस तरह का पेज ओपन होता है 




जो कि मैने इस फोटू में दिया है ।  हम ये जो तीर का नीसान लग रहा है इस पर किलिक करते है किलिक करते ही हमे एक रेड पट्टी में लिखा होगा
Create your blog हमे उस पर किलिक करना है






फिर एक पेज खुलेगा । जिस पर बो हमारी gmail अकउन्ट मांगेगा ।




 हम उस मे अपनी जीमेल डालते है और फिर पासबर्ड डालते है ।
ये लो दोस्तो हम ब्लॉगर के मैन टॉपिक पहुंच गए



 अब हमे अपनी बेबसाइट का टॉपिक चुनना है के हम ये बेबसाइट किस बारे में बना रहे है । हम इस पर किसके बारे में लिखेंगे ।जैसे मेने लिखा के मेरा  प्यारा ब्लॉग ।

ये सिर्फ आप को समझाने के लिए किया आप कोई भी टॉपिक डाल सकते है।

अब दोस्तो हम नीचे आते है और अपनी बेबसाइट का नाम चुनते है के हमे अपनी बेबसाइट का क्या नाम चुनना है । जैसे की मेने आपको समझाने के लिए चुन 



www.merapyarablog. जब हम उस मे कोई नाम डालते है तो ब्लॉगर उस की जांच करता है के ये बेबसाइट किसी और कि तो नही है । यदि हुई तो कुछ इस तरह का नीसान आपके सामने आ जाता है





अगर यदि नही हुई और आप उसे पहली बार बना रहे है तो उस पर सही का नीसान आ जाएगा ।उस के बाद हमे create now पर किलिक करना है और फिर हमें अपनी बेबसाइट को ओपन करना




फिर हमें उस के अंदर कुछ ऐसी बात लिखनी है जिस से हम लोगो ध्यान अपनी ओर आकर्षित  कर सकते हो । और बहुत ही अच्छा हो । दोस्तो अब ये आपके हाथ मे है के आप कितना अच्छा लिखते है और आपका लिखना लोगो को कितना पसन्द आता है । फिर हम जब लिख कर फ्री हो जाये तो taital  डाल देते है के हमे किसके बारे में लिखा है ।
उस के बाद में जब हम लगा के हमारा लिखा हुआ चपट्टर सही है और अब हम इसे लोगो को पड़ा सकते है 





तो फिर आप उस को publish कर दे ताकि बो लोगो के पास पहुच जाए । 



दोस्तो अगर आप चाहते है के मेने जो चीज़ लिखी है उसे लोग और मेरे दोस्त भी पड़े तो आप उस का लिंक कोप्पी कर के facebook या whatsapp पर भी डाल सकते है । जिस से आपकी ट्राफिक भी बढ़ेगी और लोगो को आपकी खासियत के बारे में भी पता लगेगा ।
तो दोस्तो इस तरह हम अपनी बेबसाइट बना सकते है । यदि किसी के समझ मे नही आया हो तो मैं इस अपने यूट्यूब चैनल की लिंक आपके सामने डाल रहा इस लिंक पर किलिक कर के सब देख सकते है ।https://youtu.be/Uu5UgtkHsdU
दोस्तो अब हम इस से किस तरह पैसे कुमाये और पैसे कैसे हमारे अकाउंट में आएंगे ये में आगे लिखूंगा टैब तक के लिए
good bay

मेरा ब्लॉग है या मेरी बेबसाइट है