most 1

Tuesday, November 22, 2016

जीत का जस्न

जीत का  जस्न

 ना डर  जामने से तू ये जामाना तुझे डरायेगा !!
दिल में रख ज़ज़्बा तू ही दुश्मन को हराएगा !

हजारो मुश्किले  आएँगी लाख तूफ़ान आएंगे !!
तेरे  चाहने  बाले ही तुझ को  गिराना   चाहेंगे  !

 खुद पर रख भरोसा तुझे मंजिल को पाना है !!
भगा दे दुश्मन को यहां से जहां उसका ठिकाना है !

ज़िन्दगी है चार दिन की काट ले इसको सान से !!
मेरे देश की है रौनक तू  खुद को तू पहचान ले !

तू जीतेगा देश की खातिर तो जशन हम बानायेंगे !!
हम प्यारे यहां खुसी के गीत बन्दे  मातरम गाएंगे  !


मचा तबाही मर गिरा तू दुश्मन से तू लड़ता चल
आये मुसीबत रहो में तो उसको हटाता बढ़ता चल

एय देश के  बीर सिपाही  जिस की तू संतान है !!
उस माँ को है हजार सलामी और उस को दिल से सम्मान है !

रखबाला तू भारत माँ का तू देश को बचाता है !!
सब सोते चेन की  नीद और तू सीने पर गोली  खाता  है 

तू सब की है आँख का तारा तू रब का  है प्यारा इंसान !!
एय देश के  बीर  सिपाही  मेरा भी तुझ को है सलाम !

No comments:

Post a Comment

life की मुहब्बत भरी बाते