Skip to main content

हर काम सरल है अगर हम काम को करने की दिल में ठान ले तो .....

 Hello friends ...


ज़िन्दगी को जीतने के लिए कठीण  संघर्ष करना होगा ये
तो तय है ! लोग कहते है की ६० -७०  साल ही तो १००० रूपये रोज कुमान बाले  जीते है  और ६० - ७०  साल ही १०० रोज कुमान बाले जीते है. तो क्यों मरे धन के लालच में ?
लेकिन ये गलत है ! इंसान जितनी बड़ी सोच रखेगा  उतनी ही बाड़ी साफलता  पायेगा ! सोच बड़ी रखो तो बड़े बनने के  थोड़े आसार नज़र आते है  !

किसी ने क्या खूब   कहा है। ......
हर सपने को अपनी आखो में रखो !!
हर मंज़िल को अपनी बाहो में राखो !
हर जीत हो सकती है आपकी !!
बस अपने  लक्छ्य को अपनी निगाहों में रखो !


किसी भी चीज़ को ले लो यदि उस पर मेहनत करते है तो

उस चीज़ का आकार बादल जाता है  जैसे के। ......

*दूध को दुखी करो तो दही बनता है|

*दही को सताने से मक्खन बनता है|*

 *मक्खन को सताने से घी बनता है|*

  *दूध से महंगा दही है,दही से महंगा मक्खन है,और मक्खन से महंगा घी है|*

 *किन्तु इन चारों का रंग एक ही है सफेद|*



 *इसका अर्थ है बाऱ- बार दुख और संकट आने पर भी जो इंसान अपना रंग नहीं बदलता,समाज में उसका ही मूल्य बढ़ता है|*



          

‬: जीवन का 'आरंभ' अपने रोने से होता हैं

और

जीवन का 'अंत' दूसरों के रोने से,

इस "आरंभ और अंत" के बीच का समय भरपूर हास्य भरा हो.

..बस यही सच्चा जीवन है

मँज़िले बड़ी ज़िद्दी होती हैँ। ...... हासिल कहाँ नसीब

से होती हैं।

......मगर वहाँ तूफान भी

हार जाते हैं।

..जहाँ किश्तियाँ जिद

पर होती हैँ।

 "दु:ख"  और  "तकलीफ"

       खुदा  की  बनाई  हुई

         वह  प्रयोगशाला  है l

       जहां आपकी काबलियत            

        और  आत्मविश्वास  को

            परखा  जाता  है l

यदि आप किसी चीज के बारे में सोचने में बहुत अधिक समय लगाते हैं , तो आप उसे कभी कर नहीं पाएंगे।

   

       

*जीवन" में "तकलीफ़" उसी को आती है, जो हमेशा "जवाबदारी" उठाने को तैयार रहते है,*

*और जवाबदारी लेने वाले कभी हारते नही, या तो "जीतते" है, या फिर "सिखते" है.*



*अभिमन्यु की एक बात बड़ी शिक्षा देतीं हैं ...*



*" हिम्मत से हारना,*

             *पर*

 *हिम्मत मत हारना "...*





        

 खाने में कोई 'ज़हर' घोल दे तो

एक बार उसका 'इलाज' है..

लेकिन 'कान' में कोई 'ज़हर' घोल दे तो,

उसका कोई 'इलाज' नहीं है।

*क्या खूब लिखा है किसी ने-*



*लाख दलदल हो,*

*पाँव जमाए रखिये;*



*हाथ खाली ही सही,*      

*ऊपर उठाये रखिये;*



*कौन कहता है छलनी में,*    

*पानी रुक नहीं सकता;*



*बर्फ बनने तक,*

*हौसला बनाये रखिये
Post a Comment

Popular posts from this blog

एक गरीब की दर्दनाक प्रेम कहानी ! A dangerous love story

दोस्तो प्यार कुछ चीज़ ही ऐसी बनाई है खुदा ने के जिस को एक बार हो जाता है ना तो उसे अपने महबूब की हर अदा पसंद आती है । 

महबूब की चाल , महबूब की आबाज,
महबूब की आँखे....
दोस्तो उस की तारीफ तारीफ किये जाता है लेकिन बो.....  जो बाकई अपने महबूब से प्यार करता हो । तो उसे अदा पंसद आती है ।
बर्ना आपको तो खूब पता है के आज के नौ जबानों को क्या पसंद आती है ।
चलो जाने दो हम तो हमारी कहानी पर आते है ।
दोस्तो आज मैं एक ऐसी ही कहानी लाया हूं जिसे सच मे पड़ कर आप बर्दास्त नही कर पाएंगे ।
तो चलो अपनी कहानी पर आते है ।

एक शहर में एक बहुत बड़ा  business man  रहता था जो कि साथ मे नामी गुंडो से मिला जुला था । यानी उस की गिनती दबंगो में होती थी । सब उस से डरते थे । उस की एक लड़की जिस का नाम था रीनू । 





रीनू बहुत ही बदमास और  नटखट किस्म की लड़की थी । जो कि हमेसा किसी को ना किसी को छोटी छोटी बात  पर सजा देती रहती थी । रीनू किसी पर भी दया नही करती थी । क्यो की उसे अपने पापा की इस ताकत पर घमण्ड था । बो इंसान को इंसान नही समझते थे । सब से दादागिरी से बात करना । बही दूसरी तरफ एक लड़का था जिस का नाम था सूरज


 सूरज था तो एक…

मुहब्बत की एक अजीबो गरीब प्रेम कहानी ।

दोस्तो आज के इस युग मे आज से क्या बल्कि बहुत पहले से ही जब से ईशबर ने इंसान के सीने में दिल दिया है तब से और आज तक सायद ही ऐसा कोई इंसान हो जिस ने कभी ना कभी किसी से प्यार ना किया हो ....!चाहे बो कैसे भी और किसी भी रूप में हो ।
दोस्तो हर इंसान चाहता है के उस का  पार्टनर खूबसूरत और सुंदर होना चाहिए ।
कोई भी काला या बदसूरत पासन्द नही करता । पर आपको शायद ये पता नही के खूबसूरती तो चंद दिनों की होती है असल तो मुहब्बत कायम रहती है । पार्टनर चाहे कैसा भी हो लेकिन अगर उस के अंदर आपके लिए मुहब्बत है तो आपके पास दुनिया की सारी खुशियां है और मुहब्बत नही है तो उस के पास चाहे दुनिया की सारी दौलत हो लेकिन उस की ज़िंदगी  उसे अच्छी नही लगती ।
दोस्तो आज मैं आपके सामने एक ऐसी ही प्रेम कहानी लेकर आया हु जिसे पड़ कर आप सोचने पर मजबूर हो जाएंगे ।
एक सहर में एक ब्यापारी का लड़का रहता था । जो कि बहुत ही नटखट था । बो बहुत ही सुंदर और चालाक था ।


 हमेसा मौज़ मस्ती । दिन भर दोस्तो के साथ रहना , खाना पीना , आशिकी और दिल लगी करना सब एक खेल सा था उस के लिए  लकडियाँ पटाना । उन से पैसे ऐठना सब उस के लिए आसान था । बो…

गरीब के दिल की ह्मदर्दी । कहानी एक सफर की

दोस्तो ये दुनिया बहुत बड़ी है । और इस दुनिया मे सब तरहा के लोग है ।



जैसे :- अमीर गरीब , काला गोरा , लाम्बा छोटा , मोटा पतला हर तरह के लोग रहते है और दिल सब के पास रहता है लेकिन ना जाने क्यों ये कमबख्त दिल है ना किसी किसी का सिर्फ धडकने का काम करता है और किसी किसी का दिल है जो दो काम करता है ।
एक तो खुद के लिए धड़कता और एक दुसरो के लिए ।
कैसे....????
चलो मैं बताता हूं  कैसे दुसरो के लिए धड़कता है । गर्मियों के दिन थे । स्कूल की छुट्टियां सिरु हो गई तो मैने और मेरे कुछ दोस्तो ने कहि घूमने का पिलान बनाया ।

 मेने अखबार में देखा के एक बस घुमाने के लिए जा रही है जो कि 3 हजार रुपये में एक सप्तहा घुमाएगी । तो मैने मेरे तीन दोस्तो को ये बात बताई और हम तैयार हो गए । हम चारो ने अपने बैग तैयार कर के जयपुर हो लिए राबाना हो लिए  और उस बस बाले से जा मिले जो कि सात दिन के टूर पर जा रही था । हम  चारों ने तीन तीन हजार रुपये जमा करा दिए । हमारे आने से बस की सारी सीटे फुल हो गई और बस राबाना हो गई । मेरे तीन दोस्त एक सीट पर थे और में एक सीट पर बैठा था जिस पर एक अंकल और एक आंटी और एक उनका छोटा सा बेबी था ।…