Skip to main content

ज़िंदगी का सुख ऎसे प्राप्त होता है

  :-  ज़िन्दगी का सुख इसमें है  :-
 एय इंसान निकाल दिया तूने बक्त को दौलत के इस झमेले में ।।
अरे जिंदगी कितनी खूबसूरत है तू सोच कभी ये  अकेले में ।
   
Hello  friends .....
 आज में आपकों बताऊंगा की हम जिंदगी के सुख के लिए कयो परेसान है । उसे खुसी कयो नही मिल रही जब की उस के पास जिंदगी जीने का हर नुष्का यानी दौलत सोहरत लेकिन फिर भी उस की ज़िन्दगी में सुख नही है ऐसा क्यों ? ये में आपको बताता हु.. . ..!
ज़िन्दगी में सुख की पिराप्ति के लिए ज़ारुरि है के हम पहले ज़िन्दगी को समझे । इंसान का सबसे बड़ा  सत्रु है लालच और दुशरा है आलशय । लालच इस तरीके से है की इंसान की खुआइसे कभी पूरी नही होती अगर उस के पास दस करोड़ रुपया भी होगा जिससे बो अपनि ज़िन्दगी के हर लम्हे को एक खुसी के साथ बिता साक्ता है पूरी ज़िन्दगी को इन पेसो के सहारे खुसी से काट सकता है । लेकिन नही......
 अगर उस के  पास दस करोड़ रूपये भी हो जाए तो उस का दिल करेगा की ये कैसे बीस करोड़ हो जाए और लग जाएगा फिर उन्हें बीस करोड़ करने में । फिर अपना चेन सूकून उन्हें बीस करोड़ करने में लगा देगा । इसी तरहा अगर उस के पास  एक गाड़ी हो तो बो  चाहेगा कि उसके  पास दो गाड़ी हो ।अगर एक घर हो जाता है तो सोचता है के उस के पास दो घर हो । बड़े कहते है की अगर इंसान को एक जंगल पूरा सोने का बना कर दे दिया जाये तो उस की चाहत होती है के उस के पास एक और सोने का जंगल  हो  !  इंसान इतना लालची होता ही है के उस  की एकछा  कभी पूरी नहीं हो सकती है !
अगर इंसान चाहता है कि वह अपनी जिन्दगी में खुशी के साथ जिए तो उसे अपने मन पर नियंत्रण रखना चाहिए और इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह इस दुनिया में थोड़े ही दिनों के लिए है और उसे हर लम्हे को एक खुसी के साथ बिताना चाहिए   !  पेसो का लालच इंसान को अन्धा बना देता है तो उसे इस बात का ध्यान रखना चाहिए !  अगर इंसान को बाकई खुसी चाइये तो उस को डिशको  मे जाने की बजाय किसी भी गरीब बच्चों को एक वक्त का खाना खिला कर देखो और उसे  बही खाता हुआ देखो उसको    !, आपको कितनी खुसी होगी, मेहगी गाड़ियों की बजाय कोई सस्ती गाड़ी ले लो और बचे हुऐ पेसो से किसी गरीब लोगों को सर ढकने का इंतज़ाम कर दो तो कितनी खुसी होगी उन्हे और उन्हे देख कर आपको भी खुसी होगी !  पेसो को बेयर्थ  बेहाने की बजाय किसी गरीब की मदद  करो तब आपको कितना अच्छा लगेगा आप इस बात का अंदाज़ा भी नहीं कर सकते हैं  !  Jeeb जंतुओं पर दया करो !  इससे ऊपर वाला अपने आप जीवन के अंदर  मिठास घोल देगा  !  लेकिन ये शायद संभव नहीं है क्योंकि लोग सिर्फ लेना जानते ना कि देना !  आज के समय में तो ऎसा कि बल्कि अगर गरीबो का खून बेचकर भी पेसे कुम सकते है तो वह गरीबो का खून भी बेच देते है !  तो बोलो केहा से खुसी मिल सकेगी!  भाइयो अगर सच मे आप ज़िंदगी का आनंद लेना चाहते हैं तो आप एक दूसरे की भावनाओं को समझो एक दूसरे के जीवन का हिस्सा बनो तब आपको लगेगा कि बाकी जिंदगी बहुत खूबसूरत है आप एक बार कोसिस कर के देखो किसी गरीब लोगों को खाना खिला कर देखो आप महसूस करेंगे      !
    Tha end
Post a Comment

Popular posts from this blog

एक गरीब की दर्दनाक प्रेम कहानी ! A dangerous love story

दोस्तो प्यार कुछ चीज़ ही ऐसी बनाई है खुदा ने के जिस को एक बार हो जाता है ना तो उसे अपने महबूब की हर अदा पसंद आती है । 

महबूब की चाल , महबूब की आबाज,
महबूब की आँखे....
दोस्तो उस की तारीफ तारीफ किये जाता है लेकिन बो.....  जो बाकई अपने महबूब से प्यार करता हो । तो उसे अदा पंसद आती है ।
बर्ना आपको तो खूब पता है के आज के नौ जबानों को क्या पसंद आती है ।
चलो जाने दो हम तो हमारी कहानी पर आते है ।
दोस्तो आज मैं एक ऐसी ही कहानी लाया हूं जिसे सच मे पड़ कर आप बर्दास्त नही कर पाएंगे ।
तो चलो अपनी कहानी पर आते है ।

एक शहर में एक बहुत बड़ा  business man  रहता था जो कि साथ मे नामी गुंडो से मिला जुला था । यानी उस की गिनती दबंगो में होती थी । सब उस से डरते थे । उस की एक लड़की जिस का नाम था रीनू । 





रीनू बहुत ही बदमास और  नटखट किस्म की लड़की थी । जो कि हमेसा किसी को ना किसी को छोटी छोटी बात  पर सजा देती रहती थी । रीनू किसी पर भी दया नही करती थी । क्यो की उसे अपने पापा की इस ताकत पर घमण्ड था । बो इंसान को इंसान नही समझते थे । सब से दादागिरी से बात करना । बही दूसरी तरफ एक लड़का था जिस का नाम था सूरज


 सूरज था तो एक…

मुहब्बत की एक अजीबो गरीब प्रेम कहानी ।

दोस्तो आज के इस युग मे आज से क्या बल्कि बहुत पहले से ही जब से ईशबर ने इंसान के सीने में दिल दिया है तब से और आज तक सायद ही ऐसा कोई इंसान हो जिस ने कभी ना कभी किसी से प्यार ना किया हो ....!चाहे बो कैसे भी और किसी भी रूप में हो ।
दोस्तो हर इंसान चाहता है के उस का  पार्टनर खूबसूरत और सुंदर होना चाहिए ।
कोई भी काला या बदसूरत पासन्द नही करता । पर आपको शायद ये पता नही के खूबसूरती तो चंद दिनों की होती है असल तो मुहब्बत कायम रहती है । पार्टनर चाहे कैसा भी हो लेकिन अगर उस के अंदर आपके लिए मुहब्बत है तो आपके पास दुनिया की सारी खुशियां है और मुहब्बत नही है तो उस के पास चाहे दुनिया की सारी दौलत हो लेकिन उस की ज़िंदगी  उसे अच्छी नही लगती ।
दोस्तो आज मैं आपके सामने एक ऐसी ही प्रेम कहानी लेकर आया हु जिसे पड़ कर आप सोचने पर मजबूर हो जाएंगे ।
एक सहर में एक ब्यापारी का लड़का रहता था । जो कि बहुत ही नटखट था । बो बहुत ही सुंदर और चालाक था ।


 हमेसा मौज़ मस्ती । दिन भर दोस्तो के साथ रहना , खाना पीना , आशिकी और दिल लगी करना सब एक खेल सा था उस के लिए  लकडियाँ पटाना । उन से पैसे ऐठना सब उस के लिए आसान था । बो…

गरीब के दिल की ह्मदर्दी । कहानी एक सफर की

दोस्तो ये दुनिया बहुत बड़ी है । और इस दुनिया मे सब तरहा के लोग है ।



जैसे :- अमीर गरीब , काला गोरा , लाम्बा छोटा , मोटा पतला हर तरह के लोग रहते है और दिल सब के पास रहता है लेकिन ना जाने क्यों ये कमबख्त दिल है ना किसी किसी का सिर्फ धडकने का काम करता है और किसी किसी का दिल है जो दो काम करता है ।
एक तो खुद के लिए धड़कता और एक दुसरो के लिए ।
कैसे....????
चलो मैं बताता हूं  कैसे दुसरो के लिए धड़कता है । गर्मियों के दिन थे । स्कूल की छुट्टियां सिरु हो गई तो मैने और मेरे कुछ दोस्तो ने कहि घूमने का पिलान बनाया ।

 मेने अखबार में देखा के एक बस घुमाने के लिए जा रही है जो कि 3 हजार रुपये में एक सप्तहा घुमाएगी । तो मैने मेरे तीन दोस्तो को ये बात बताई और हम तैयार हो गए । हम चारो ने अपने बैग तैयार कर के जयपुर हो लिए राबाना हो लिए  और उस बस बाले से जा मिले जो कि सात दिन के टूर पर जा रही था । हम  चारों ने तीन तीन हजार रुपये जमा करा दिए । हमारे आने से बस की सारी सीटे फुल हो गई और बस राबाना हो गई । मेरे तीन दोस्त एक सीट पर थे और में एक सीट पर बैठा था जिस पर एक अंकल और एक आंटी और एक उनका छोटा सा बेबी था ।…