most 1

Wednesday, March 15, 2017

एक नटखट राजकुमार की दुख भरी प्रेम कहानी ।




बहुत पुरानी बात है के एक सहर में एक नटखट राजकुमार रहता था।
बो राजकुमार इतना नटखट था के बो जब तक किसी को अच्छी तरह तंग नही कर लेता था उसे खाना नही भाता था । बो अपने इस सुभाब से पूरे शहर में विख्यात था । उस का पिता यानि राजा भी उस के इस नटखट पने पूरी तरह बाकिफ था लेकिन बो अपने पुत्र से इस कदर मुहब्बत करता के बो उस की हर बात को सहन करता और उस से कोई भी बड़ा नुक्सान  हो भी जाता तब भी उस से कुछ नही कहता । लेकिन राजकुमार की ये आदत थी के बो किसी को मरता नही और ना ही गरीबो पर जुल्म करता । बस बो नटखट किस्म का आदमी था । एक दिन किसी पडोसी सहर ने राजा के लिए जंग का प्रस्ताब भेजा । तो राजा ने उस के प्रस्ताब को स्विकार कर लिया । और अपने राज्य में जंग का एलान कर दिया । अब जंग की सभी तैयारियां जोर सोर से सिरु हो गई । जब जाने का बक्त आया तो उस के पुत्र को पता चला के उस का पिता किसी जंग में जा रहा है तो उसने उस जंग में जाने की जिद करी । तो उस के पिता ने मना कर दिया । और उसे बहाँ से जाने को कहा
तो उस ने फिर जिद की और बार बार इसरार करते रहा । तो फिर उस के पिता ने उसे जाने की अनुमति दे दी । और 10 ऐसे सिफाइयो को उस की देखभाल के लिए मुक़र्रर कर दिया जो बहुत ही भरोसेमंद थे और अच्छे लड़ाकू थे । राजा अपनी फ़ौज के साथ बहाँ से रबाना हो गया और चलते चलते उन्हें रस्ते में साम हो गई । तो राजा ने एलान करा दिया के आज रात हम यही क़याम करेंगे । फिर बही सभी सेनिको ने रुकने का बन्दोबस सिरु कर दिया और सब ने तंबू गाड़ लिए । राजकुमार का भी तंबू लगा दिया गया । और उस की रक्षा के लिए 10 सैनिक पहले से ही लगा रखे थे । जो उस के तंबू की रात भर हिफाज़त करेंगे । जब रात हो गई तो सब सो गए और हिफाज़त बाले हिफाज़त में लग गए । उन सेनिको ने पूरी रात हिफाज़त की और जब सुबह होने लगी उन्होंने सोचा के अब तो लगभग सुबह हो गई है अब कौन आएगा और ये कहाँ जायेगा ..??? पूरी रात हिफाज़त करने बाद सुबह के बक्त उन की आँख लग गई । और राजकुमार की आदत थी की बो जल्दी जिगता था और टहलने के लिए निकल जाता था । तो आज भी कुछ ऐसा ही हुआ । राजकुमार जागा और तंबू से निकल कर अपनी तलबार हाथ में ली और टहलने के लिए निकल गया । और बो टहलते टहलते एक जंगल की ओर निकल गया । बहाँ जंगल में उस की नज़र एक ऐसे हिरन पर पड़ी जो उस ने कभी नही देखा ।

क्यों की बो बहुत ही खूबसूरत था । राजकुमार ने उसे देख कर उस को पकड़ने की चाहत करी और बो उस की तरफ भागा । हिरन राजकुमार को अपनी तरफ आता देखकर बहाँ से भाग लिया
। राजकुमार भी उस के पीछे पीछे भाग लिया । हिरन एक गहरे जंगल में जाकर खो गया । अब राजकुमार इधर उधर उसे ढूढता लेकिन बो नही मिली । उसे तलास करते करते अब तो बो खुद ही रास्ता खो गया । अब कहाँ जाये कैसे जाये क्या पता ..???
अब इधर से उधर घूमते घूमते उस की हालत खराब हो गई । बो घूमता घूमता एक नदी के किनारे जा पहुचा । बो बहुत थक गया था और उस ने नहाने का इरादा किया । फिर उसने अपने बस्त्र उतार कर और नदी के किनारे एक पेड़ से लटका दिए और तलबार भी बही रख दी अब बो उसमे नहाने के लिए घुस गया । उस को पता नही था के जिस नदी में बो नहा रहा है उस में मगरमच्छ भी रहते है
। बो उस नदी में घुसा नहाया तब तक तो कोई परेशानी नही आई । लेकिन बो जब नहा कर निकलने लगा  और किनारे पर पहुचते ही उस का पैर एक मगरमच्छ ने पकड़ लिया और उस को अंदर खींचने लगा । तो राजकुमार को उस पेड़ का तना हाथ में पकड में आ गया । उस ने तलबार एक ऊँची डाल पर लटका राखी थी । उसने बहुत कोसिस की लेकिन मगरमच्छ उस के पैर को नही छोड़ रहा था । राजकुमार परेसान के अब क्या करे , उसे अपनी मौत नज़र आने लगी । पर एक कन्या उस नदी के पर पानी भरने के लिए आ गई और उसने ये मंज़र देखा तो घबरा गई
। रकजकुमार की जब उस पर नज़र पड़ी तो उसने उस से मदत का आग्रह किया । और कहा के क्रप्या मेरी तलबार मुझे पकड़ा दो जो उस डाल पर लटक रही है । तो उस कन्या ने उस तलबार को उसे पकड़ा । फिर राजकुमार ने उस तलबार से उस मगरमच्छ के मुँह पर बार किया जिस से बो जख्मी हुआ और छोड़ कर भाग गया । राजकुमार भार निकला और अपने कपडे पहने फिर कुछ देर तक चुपचाप गरदन झुका कर बैठ गया । बो कन्या उस को देखती रही । फिर कुछ देर बाद राजकुमार ने अपना सर ऊपर किया और उस को देखा तो बो बहुत ही सुन्दर कन्या थी । और राजकुमार एक ही बार में इस को दिल दे बैठा और उस का दिबाना बन गया । उस कन्या ने पूछा के आप कहाँ से आये हो ?
तो उस ने अपनी पूरी कहानी सुना दी ...! फिर
राजकुमार उस से भूक प्यास का इज़हार किया तो बो कन्या कुछ देर सोचने लगी फिर उसे अपने साथ लेकर अपने घर आ गई बो एक छोटी सी बस्ती में रहते थे ।
उसने देखा के घर उस के माता पिता  नही है तो उस ने जल्दी से उस के लिए खाना पानी निकाला फिर राजकुमार ने खाना खाया और कुछ देर आराम करने की कही तो उसने बिलकुल मना कर दिया और उस से कह दिया के आप कहि और चले जाये । क्यों की मेरे पिता जी राजकुमारों से बहुत नफरत करता है क्यों की मुझ से बड़ी मेरी तीन बहनो को यहाँ का राजकुमार उठा कर ले गया ।और उस के बार बार के अत्याचारों  से परेसान होकर मेरे काबिले बाले और हम  इस जंगल में बस में गए । मेरे पिता जी को आपके बारे में पता लग गया तो या तो मुझे मार देगा या आपको । इस लिए आप कहि और चले जाये  । तो फिर  राजकुमार ने उस की बात मान ली और बहाँ निकल कर एक उस बस्ती में चला गया और अपनी मोतियों की माला और कीमती लिबास बेच कर उन पेसो से ही अपना सामान और एक हलकी सी झोपडी डाल ली और उस लड़की को पाने के लिए बही रहने लगा । और उधर उसके पिता ने जो उन 10 सिपाहियों को उसकी देख रेख के लिए रखा था उनका जीना हराम कर दिया और उनसे कह दिया के अगर मेरा बेटा ना मिला तो तुम सब को सजाये मौत है ।
जो उसे कैसे भी देख कर लाओ । बर्ना मै तुम्हे मौत के घाट उतार दूंगा । उसके बाप का रो रो कर बुरा हाल हो गया क्या करे क्या न करे ..? उसके बाप ने मसबरा किया और कहा के मेरा जंग करने का अब दिल नही कर रहा क्यों की मै अपने आप को सभाल नही पा रहा हु कोई ऐसा इंसान है बजीर ने अपना हाथ उठाया और उस को भरोसा दिया के मै इस जंग को जीत कर बापस आऊंगा । आप मुझ पर भरोसा करे । तो उसने बो जंग अपने बजीर के हबाले कर दी और उन्हें जंग के लिए रबाना कर दिया । और खुद चंद सेनिको को साथ बही ठहर गया । के क्या पता मेरा बेटा कभी यहाँ आ जाये तो बो अकेला कहाँ जायेगा ..???
उधर उस का बेटा उस लड़की के प्यार में पूरी तरह पागल हो गया और  छुप छुप कर उस लड़की से मिलने जाता पर बो लड़की उसे समझाती के उस पिता नही मानेंनगे और उन्हें जब पता लगेगा तो तुम्हे मार डालेंगे । उसने कहा के मै तुम्हे पा कर रहूंगा चाहे मुझे अपनी जान ही क्यों ना गबानी पड़ जाये । एक दिन जब बो उस से मिलने आया तो उस के पिता को उस की खबर हो गई और
उसके पिता ने चंद आदमियों को लिया और उसको मारना पीटना सिरु किया और उसे बहुत बुरा पीट कर उसे बस्ती से बहार फिकबा दिया । पर फिर भी उसने उस से मिलना बंद नही किया । एक दिन किसी पडोसी राजा को उस बस्ती के बारे में पता लग गया और उसने चंद सेनिको को उस बस्ती बालो पर हमला करने के लिए भेजा और उन्होंने उस बस्ती पर हमला कर दिया । जब राजकुमार को पता लगा तो बो भी उन बस्ती बालो के साथ लड़ा ।
  बो तो एक राजकुमार था और उस को हर तरहा से लड़ना आता था और उस अकेले ने उन  को खत्म कर दिया और एक दो बच कर भाग गए । अब तो उस बस्ती में उसकी इज़्ज़त और बड़ा दी । अब तो उस के सब लोग जानने लग गए के ये राजकुमार है । अब कुछ कुछ उस लड़की पिता भी उस को चाहने लगा था । अब बो राजकुमार भी उस के पिता के काम में हाथ बटाने लगा । अब उन बचे हुए सेनिको ने जब जो बात बहाँ के राजा को बताई थी तो उस राजा ने और बहुत से सैनिक इकट्ठे किये और उन बस्ती बालो पर हमला कर दिया । अचानक के इस हमले से सारे बस्ती बाले परेसान हो गए और सेना भी ज्यादा कहाँ तक लड़ते
। सेना बहुत थी इस लिए  बहुत से काबिले के लोग मारे गए कुछ बच कर भाग गए । इस लड़ाई में उस लड़की के माता पिता भी मारे गए उस लड़की के पिता ने मारने से अपनी बच्ची का हाथ उस राजकुमार के हाथो में दे दिया और उस की रक्षा का बचन लिया । अब राजकुमार भी लड़ता रहा लेकिन कब तक लड़ता सैनिक बहुत थे इस लिए बो उस लड़की को लेकर बहाँ से भाग निकला और जंगल में जाकर छुप गए । उन सेनिको ने बहाँ की हर चीज़ को आग लगा दी
और बहाँ से आगे बढ़ गए । बे सैनिक लड़ते मारते हुए उसी जगह पहुच गए जिस जगह उस का पिता चंद सेनिको के साथ अपने बेटे के इंतज़ार में रुका हुआ था । उन्होंने उन को देखा तो उन पर भी हमला कर दिया
उसका पिता थोड़े ही सेनिको के साथ ठहरा हुआ था इस लिए  बो भी अपने सेनिको के साथ शहीद हुआ । यह सैनिक सब को मारते हुए अपने घर वापस हो डॉ राजकुमार उस लड़की को लेकर इधर से उधर घूमता रहा । उनके पिता के जो दस सैनिक थे बो उसे तलास करते करते उसी जगह पहुच गए जहाँ राजकुमार छुपा हुआ था । जब राजकुमार ने उन्हें देखा तो फौरन उन्हें पहचान लिया और उन्हें बुलाया । लेकिन बो अब उस राजकुमार को नही पहचान रहे क्यों की अब उसके कपडे गंदे से और बहुत ही बुरी हालत लग रही थी । लेकिन जब राजकुमार ने उन्हें कुछ सीक्रेट बाते बताई तो बो उन्हें पहचान गए और उनसे कहने लगे के आप की बजह से हमारा जीना हराम कर दिया गया है राजा जी ने हमें मारने का हुक्म दे दिया अगर आप न मिलते तो अच्छा हुआ आप मिल गए । बो दसो सैनिक बहुत खुश हुए । उन्होंने उस लड़की के बारे पूछा तो राजकुमार ने कहा के ये मेरी पत्नी है और आपकी नई रानी ....।।
बो उन को लेकर अब राजा की तरफ रबाना हो लिए । जब बो वँहा पहुचे तो देखते है के राजा और उस के कुछ साथी बहाँ मरे हुए पड़े है । तो राजकुमार उन्हें देखकर रोने लगा और सब रोने लगे । उनके सेनिको ने उसे समझाया उन्होंने राजा को वही दफन किया और  अपने शहर की तरफ बड़े । बो जब अपने घर पहुचे तो पता चला के हम लोग जंग हार गए । और अब दुसमन हमारे शहर पर कब्ज़ा करने की नीयत से आगे बढ़ा चला आ रहा है । अब तो सहर बालो की नींद हराम हो गई और वहाँ के लोगो ने इस राजकुमार को अपना राजा बना दिया और अब उससे कहा के अब पूरे शहर को बचाना आपके हाथ में है । लेकिन राजकुमार को उस लड़की से बेहद मुहब्बत थी । और बो उस की आँखों का भी दिबाना था । बो उस को एक पल भी नही छोड़ना चाहता था । बो जब भी उसे समझती तो बो उस की बातों पर ध्यान नही देता और न ही सहर के लोगो की बातों पर ध्यान देता था । तो बहाँ के कुछ लोग उस लड़की के पास आये और कहने लगे की उस को अब सिर्फ आप ही राजकुमार को समझा सकती हो । बो अब बक्त का राजा है और पूरी जनता की हिफाज़त की जुम्मेदारी अब आपके राजकुमार के हाथ में है । अब आप ही उन्हें समझा सकती हो.....।।।।
जब बो सब लोग चले गए तो कुछ देर बाद राजकुमार उस लड़की के पास आया तो उसने उसे समझाया ।
लेकिन राजकुमार कुछ मानने को तैयार नही और एक बात कहता के कैसे जाऊ आपकी खूबसूरत आँखों को देखे बिना नही रहा जाता मुझपर ।
आपकी झील जैसी आँखों में डूबे रहने का मन करता है । तो उसने उस राजकुमार से कहा के अभी रुको । मै आती हूँ ।
इतना कह कर बो लड़की अंदर गई । फिर कुछ देर में एक नौकरानी एक थाल में कुछ चीज़ रुमाल से ढक कर लाइ और थाल उस राजकुमार के हबाले कर दिया । राजकुमार ने बो थाल लिया और जब कपडा हटाया तो उसके होड़ उड़ गए ...।
के उस थाल में उस लड़की की दोनों आँखे थी और पास में एक पर्चा भी था जिस पर लिखा हुआ था के " मेरी जैसी राजकुमारी तो बहुत मिल जायेगी मुझ जैसी खूबसूरत आँखों बलि भी बहुत मिल जायेगी , और मुझ से ज्यादा प्यार करने बाली भी बहुत मिल जायेगी , लेकिन अगर मेरी इस मुहब्बत और आँखों की बजह से किसी की हजारो लोगो की जान चली जाए ये मुझे बरदास्त नही ।
मेरी तो यही दुआ है के अब नही तो मालिक हमें अगले जन्म में हमें मिलादे । लेकिन अपनी प्रजा की हिफाज़त की जुम्मेदारी आप की है इस लिए मेरी इस कुर्बानी को ब्यर्थ ना जाने देना ।
राजकुमार इस पर्चे को पड़ने के बाद सीधा अपनी राजकुमारी की ओर दौड़ा उसे देखा तो बो खून से लथपथ हो रही थी और उसके मुंह एक ही बात निकली के मेरी क़ुरबानी को ब्यर्थ ना होने देना इतना कह कर बो बेहोस हो गई  । राजकुमार ये सब देख कर बेकाबू हो गया और जल्दी से भाग कर और बेध को लेकर आया और बहुत से लोग उस की देखरेख में लग गए । अब राजकुमार ने सेनिको को इकट्ठा करना सिरु किया और हर बो इंसान जो तलबार को पकड़ सकता था उसे तलबार पकड़ा दी और अपने पिता के मित्रो को भी खबर पहुचा  दी अब बहुत सारे लोग उस की सेना में हो गए और अब राजकुमार उन सब सैनिको  को लेकर उस फ़ौज से जंग करने के लिए तैयार हो गया जो उस के सहर पर चढ़ाई के लिए आ रही थी । अब बहाँ से रबाना हुआ और उन के पास जाकर और लड़ाई सिरु कर दी
। लड़ाई इतनी खतरनाक थी के लोगो के चर्चे में आने लग गई । राजकुमार उस जंग में ऐसे लड़ रहा था जैसे एक भूका शेर...


दुश्मन बहाँ से भाग छूटा और दूसरे शहर के राजा को मार दिया गया । उनको इस तरीके से मात दी के अब उनकी पीढ़ियों तक कोई जंग करने की सोच भी नही सकता । जंग से जीतकर राजकुमार जब बापस हुआ तो लोगो ने उस का खूब सम्मान किया । लेकिन बो तो अपनी रानी से मिलने के लिए उताबला था और सीधा रानी के पास गया । और जब उस के पास पहुचा और उसे देखा तो उस के और ज्यादा होस उड़ गए  के रानी अब इस दुनिया में नही रही । उसने इस दुनिया विदा ले ली....
अब राजकुमार बिलकुल ही पागल सा हो गया और इतना गम में डूब गया के लोग उस पर अपने हाल पर तरस करने के लिए कहने लगे । राजकुमार उस को आपने सीने से लगा कर जोर जोर से रोने लगा और उस से बार बार बोलता के मुझे माफ़ कर दो माफ़ कर दो....
फिर उसने उस राजकुमारी को जहाँ दफन किया उस जगह पर एक बड़ा सा इस्मारक बनबाया । लेकिन अब राजकुमार किसी भी जंग में नही हारा और कोई उस से जंग करने की हिम्मत भी नही करता । जब कोई भी जंग होती तो उस राजकुमार को अपनी राजकुमारी याद और उसकी बली याद आ जाती तो फिर उस के सर पर भी भूत सबार हो जाता । और फिर खतरनाक जंग सिरु कर देता । लेकिन राजकुमार उसे पूरी ज़िंदगी नही भूल पाया और ना ही किसी दूसरी कन्या से सादी की ।

【NOTE :- इस कहानी का किसी भी राजा या किसी भी सच्चाई से बास्ता नही है ये सिर्फ एक कहानी है जो की एक प्यार के ऊपर बनाई गई है 】
तो दोस्तों ये थी एक सच्ची मुहब्बत बाली कहानी जिसने दुसरो को बचाने के लिए अपनी ज़िंदगी दाब पर लगा और आज कल ऐसी मुहब्बत कहा देखने को मिलती है । दोस्तों और कहानी और चुटकुलों के लिए click  करे
www.pyarablog.blogspot.com
और अगर अच्छी लगे तो क्रप्या आगे सैंड जरूर करे  धन्यबाद....

No comments:

Post a Comment

life की मुहब्बत भरी बाते