मैं जानता हूं आप छोटे काम करने के लिए नहीं बने| आप बिजनेस करने के लिए बने हो| तो बिना कोई देरी के जल्दी से BUSINESS सीखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करो।

👉 👉👉   CLICK HERE 👈👈👈





अपने शेर और चूहे की बहुत सी कहानी या कहानियां { Lion and Mouse Story in Hindi } सुनी होगी। लेकिन आपने शायद ही कभी शेर और चूहे की प्यार की कहानी { Love Story OF Lion and Mouse With Moral { सुनी होगी।

मुझे उम्मीद है आपको शेर और चूहे की यह प्यार की कहानी अच्छी लगेगी। और आपको जीवन के कुछ कड़वे सत्य से परिचित कराएगी।

शेर और चुहा की प्रेम कहानी: Love story of { Lion and Mouse } in Hindi with Moral


शेर और चुहा की प्रेम कहानी : Love story of { Lion and Mouse } In Hindi
शेर और चूहे  की कहानी 

#1.) शेर और चूहे की कहानी ( Lion and Mouse Story in Hindi )

एक जंगल में एक बहुत सुंदर चूहा रहता था। वह बहुत अच्छा संगीत गाया करता था। सभी जानवर उसकी बहुत प्रशंसा करते। लेकिन जब भी वह चूहा संगीत सुनाता।

जंगल का शेर वहाँ संगीत सुनने जरूर आता। और संगीत को बहुत ध्यान से सुनता और दिल से संगीत की तारीफ करता।

देखते ही देखते शेर और चूहे में बहुत अच्छी दोस्ती हो गई। दोनों साथ में खेलते, कूदते, और मजे करते।

और ऐसे ही कहीं दिन बीत गए और दिन बीतने के साथ-साथ कहीं ना कहीं शेर को चूहे से प्यार होने लगा था।

लेकिन शेर कभी भी आपने प्यार का इजहार नहीं करता था। उसे हमेशा चूहे को खो देने का डर लगता। वह हमेशा यही सोचता। यह सुनकर चूहा कहीं उसे छोड़कर ना चला जाए

शेर बहुत शर्मिला था। वह अक्सर चूहे को नज़रे छुपा कर देखता और कभी नज़रे मिलने पर। नज़रे छुपा लेता।

एक दिंन बहुत जोर से बारिश हुई जिससे पूरे जंगल में पानी भर गया सभी छोटे जानवरों को अपना घर छोड़कर पहाड़ी जंगल पर जाना पड़ा। जिसमें उस चूहे को भी अपने परिवार के साथ जाना पड़ा

जब यह बात शेर को पता चली तो। वह बहुत निराश हुआ। शेर को हमेशा चूहे की बहुत याद आती। लेकिन वह दूसरे जंगल में नहीं जा सकता क्योंकि उस जंगल का राजा कोई और शेर था 

ऐसे ही कई साल बीत गए और 10 साल बाद वह चूहा वापस अपने जंगल में आया। अब उसकी सुंदरता पूरी तरह से ढल चुकी थी। और वह अब पहले जैसा संगीत भी नही गाँ पाता था

लेकिन जब शेर ने चूहे को देखा तो उसके खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा वह खुशी से झूम उठा और उसने बिना देरी किए अपने प्यार का इजहार किया। और उसे बताया की उसके बिना उसकी कैसी हालत हो गई थी।

लेकिन चूहे को उसके लिए सिर्फ दोस्ती वाली ही फीलिंग थी। और अब चूहे का खुद का परिवार था उसने बिना सोचे समझे सीधा मना कर दिया

यहां सुन शेर की पैरों तले जमीन खिसक गई उसकी आंखों में आंसू भर आये और वह बिना कुछ बोले ही वहां से चला गया।


इस कहानी से नैतिक शिक्षा: ( शेर और चूहे की कहानी )

जरूरी नहीं आप जैसे दूसरों के बारे में फीलिंग रखते हैं। दूसरा भी आपके लिए वही फीलिंग रखें। हर चीज आपके सोच अनुसार नहीं होती। इसलिए दूसरों के नजरिया से भी देखना सीखिए।

Moral of this Story { Lion and mouse story In Hindi }

Feeling about others like you is not necessary. Secondly, keep the same feeling for you. Not everything is according to your thinking. Therefore, learn to see from the perspective of others.

आप इन कहानियों को जरूर पढ़े:

3 छोटी कहानियां बच्चों के लिए 
भूत की कहानी : ऑटो में चुड़ैल के साथ
तीन पक्के दोस्त
दादी मां की कहानियां 
कोयला और चंदन 
200 मजेदार हिन्दी पहेलियां संग्रह!
पहला किस स्कूल प्रेम कहानी 
लालची प्याज वाले की ये कहानी

agar aapko sher aur chuhe ki ye kahani acchi lagi ho tho aapne dosto ke sath jarur share kare

और हां हर मंगलवार को हनुमान चालीसा पढ़ना न भूले 

Thanks