मैं जानता हूं आप छोटे काम करने के लिए नहीं बने| आप बिजनेस करने के लिए बने हो| तो बिना कोई देरी के जल्दी से BUSINESS सीखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करो।

👉 👉👉   CLICK HERE 👈👈👈




अगर किसी कहानी ( Hindi Kahani ) के पीछे कोई नैतिक शिक्षा हमें मिलती है तो यह हमारे लिए बहुत अच्छी बात है क्योंकि यह 300 शब्दों की हिंदी कहानियां हमें अक्सर मुश्किल समय में फैसले लेने के लिए तैयार करती हैं

हिन्दी कहानी - ( Hindi Story With Moral for kids )

और अगर हम दूसरों की जिंदगी की कहानी से कुछ सीख रहे हैं तो यह हमारे लिए बहुत बड़ी बात है क्योंकि खुद की गलती की कहानियों से सीखने के लिए हमारी जिंदगी बहुत छोटी है इसलिए हमें जितना हो सके दूसरों की जिंदगी की अच्छी बुरी कहानी से अच्छी बातें सीख लेनी चाहिए



hindi kahani
hindi kahani with moral for kids


#1. लालची प्याज वाला ( Hindi kahani With Moral )


बहुत समय पहले गांव में प्रिंस और राजन नाम के 2 दोस्त रहते थे

राजन लालची और घमंडी इंसान था सब कुछ उसकी इच्छा अनुसार हो ऐसी सोच रखता था

प्रिंस एक सीधा साधा इंसान था वह स्थितियों के अनुसार व्यवहार करता था

दोनों दोस्त मिलकर प्याज बेचने का व्यापार करते थे जो प्याज वह बेचते थे उसे वह प्याज के किसान से कम दाम में खरीद कर और फिर बाद में दाम बढ़ाकर बेचा करते थे

एक बार एक आदमी उनसे प्याज खरीदने आता है और उनके प्याज के दाम पूछता है

तभी राजन बोलता है ₹50 किलो प्याज है

तभी वह आदमी बोलता है 5 किलो प्याज चाहिए 40 का दाम लगा लीजिए

यह सुनकर प्रिंस उस आदमी को प्याज देने के लिए तैयार हो जाता है यह देखकर राजन को बहुत गुस्सा आता है और वो प्रिंस से कहता है तुमे व्यापार करना नहीं आता तुम मुझे देखो मैं कैसे बेचता हूं

वह उस आदमी से चिढ कर बोलता है भाई साहब आप 5 किलो लो या 50 किलो प्याज आपको ₹50 किलो के दाम पर ही मिलेगा

फिर वह आदमी चीढ कर बोलता है मुझे नहीं चाहिए तुम्हारे प्याज तुम ही रख लो अपने प्याज अपने पास

लेकिन उस आदमी पर दूसरा कोई विकल्प ना था क्योंकि वह छोटे से गांव में बस वह दोनों ही प्याज का व्यापार करते थे वह आदमी थोड़े दूर जाकर वापस आने लगता है और बोलता है लाओ 5 किलो प्याज अपने दम पर

यह सुनकर राजन को खुद की काबिलियत पर बहुत गर्व महसूस होता है और प्रिंस से बोलता है देखा ऐसे बेचते हैं प्याज तुम्हें कुछ नहीं आता

अगले ही दिन प्याज के दाम बढ़कर ₹70 हो जाते हैं और जो प्याज उन्होंने 30 के दाम पर खरीदे होते हैं उन्हें उस पर बहुत मुनाफा होता है

तभी राजन के दिमाग में एक विचार आता है क्यों ना जब प्याज के दाम कम हो हम प्याज के किसान से सारे प्याज खरीद ले और जब तक प्याज के दाम ना बढ़ जाए उसे छुपा कर रखें और दाम बढ़ने पर बेचे

प्रिंस राजन को समझाता है ऐसा करना सही नहीं है हर चीज अपनी परिस्थितियों के अनुसार ही चलना ठीक रहेगा ऐसा करने से हमें ही नुकसान होगा लेकिन राजन अपनी बात पर अड़ा रहता है

और प्रिंस को जैसे-तैसे मना लेता है



hindi kahani
hindi story with moral


और फिर दोनों अपनी पूरी जमा पूंजी लगाकर ₹40 किलो के दाम पर किसान से सारे प्याज खरीद लेते हैं और उसे छुपा कर रख देते हैं और जब प्याज के दाम बढ़ने लगते हैं

तो वह दोनों प्याज ₹300 kg के दाम पर बेचने लगते हैं दाम बहुत महंगा होने के कारण उसे कोई प्याज नहीं खरीदता है और महीनों तक प्याज छुपाकर रखने की वजह से प्याज खराब होने लगते हैं और उसमें से बहुत गंदी बदबू आने लगती है जिसे उन दोनों का बहुत नुकसान होता है

नुकसान पाकर राजन को अपनी गलती का एहसास हो जाता है उसके लालच और स्वार्थ के कारण उसका और उसके दोस्त का नुकसान होना उसे बहुत दुख पहुंचाता है और राजन प्रिंस से माफी मांगता है


moral of this hindi Kahani :

सब कुछ हमारे इच्छा के अनुसार चलाने का जिद करना अच्छा नहीं है परिस्थितियों के अनुसार अपना व्यवहार बदलना चाहिए


moral of this hindi story for kids:


It is not good to insist on running everything according to our wishes, we should change our behavior according to the circumstances

अगर आपने इस कहानी से कुछ सीखा है तो क्या आप इस कहानी को दुसरो के साथ शेयर करंगे

हां जरूर करेंगे
नहीं


hindikhani.com

agar appke pass koi hindi kahani yha story h tho aap hme contact kr sakthe hai