kahaniyan in hindi
kahaniyan  in hindi

( Hindi story ) kahaniya हमारे जीवन में गुरु समान है जो हमें बहुत कुछ सिखाती है अब यह हम पर निर्भर करता है कि हम बस kahaniyan  पढ़ कर भूल जाते हैं

या Hindi kahaniyon के विचारों को धारण करके अपने जीवन में आगे बढ़ते हैं क्योंकि हमारे जीवन की बुनियाद हमारे अच्छे बुरे विचारों की कहानियों पर निर्भर है 

Hindi Kahaniyan हमारे विचारों में एक बीच की तरह है जैसी कहानियाँ आप पढ़ते हैं वैसे वैसे आपके विचार रूपी पेड़ का निर्माण होता है क्योंकि कहानियां सिर्फ एक 200, 300 शब्दों का कोई लेख नहीं बल्कि एक आदमी के पूरे जीवन काल की kahani ( story ) के अनमोल विचार हैं 

इन कहानियों को भी जरूर पढ़े:

3 छोटी कहानियां बच्चों के लिए
( कोयला और चंदन ) hindi short story with moral
हिन्दी कहानी - लालची प्याज वाला 
भूत की कहानी : ऑटो में चुड़ैल के साथ


#3 best kahaniya in hindi with moral for kids

आज  मैं जो कहानी लिखने जा रहा हूं मुझे उम्मीद है कि ये hindi kahaniyan आपके विचारों में एक बड़ा सकारात्मक परिवर्तन लाएगी

Today i am going to write best moral story for kids in hindi. I hope you enjoy these best inspiration story in hindi )


#1. एक बाप और एक बेटे की कहानी 

( A Father and A son hindi story with moral for kids )



hindi kahaniya motivational story in hindi
real story of a father and a son with moral for kids


यह कहानी एक मूर्तिकार की है जो एक छोटे से गांव में रहता था वह बहुत खूबसूरत मूर्तियां बनाया करता था और मूर्तियां बेचकर अपना घर चलाता था उसे एक बेटा हुआ बेटे ने बचपन से ही अच्छी मूर्तियां बनाना शुरू कर दिया था बाप को अपने बेटे की कामयाबी पर बहुत खुशी होती थी

लेकिन हर बार बेटे की बनाई गई मूर्ति में कुछ ना कुछ कमियाँ निकाल ही दिया करता था बेटा भी कोई शिकायत नहीं करता था और अपने बाप की सलाह पर अमल करते हुए अपनी मूर्तियों को बेहतर करता रहा

इस लगातार सुधार की वजह से बेटा बाप से भी अच्छी मूर्तियां बनाने लगा और ऐसा समय भी आया जब बेटे की मूर्तियां बाप से भी ज्यादा पैसे मैं बिकने लगी जबकि बाप  की मूर्तियां उसकी पहले वाली कीमत पर ही बिकती रही
जानिए गौतम बुद्ध के अद्भुत विचार 
पढ़िए 25 मजेदार पहेलियाँ 


लेकिन बाप अब भी अपने बेटे की मूर्तियों में कमियां निकाल ही दिया करता था लेकिन बेटे को अब अच्छा नहीं लगता था और वह बिना मन के उन कमियों को accept करता था लेकिन फिर भी अपनी मूर्तियों में सुधार कर ही दिया करता था 

लेकिन एक समय ऐसा आया जब बेटे के सब्र ने जवाब दे दिया और जब बाप कमियां निकाल ही रहा था जब बेटा बोला आप तो ऐसे कमियां  निकाल रहे हैं जैसे आप कितने बड़े मूर्तिकार हैं अगर आपको इतनी ही समझ होती तो आपकी मूर्तियां कम कीमत में नहीं बिकती मुझे नहीं लगता अब मुझे आपकी सलाह लेने की जरूरत है मेरी मूर्तियां perfect है 


जब बाप ने बेटे की यह बात सुनी तो उसने सलाह देना और उसकी मूर्तियों में कमियां निकालना बंद कर दिया


कुछ महीने तो बेटा बहुत खुश रहा लेकिन फिर उसने नोटिस किया की अब उसकी मूर्तियां कि लोग इतनी तारीफ नहीं करते जितना पहले किया करते थे और इसकी मूर्तियों के दाम भी बढ़ना बंद हो गए थे शुरू में तो बेटे को कुछ समझ में नहीं आया लेकिन फिर वह अपने बाप के पास गया 

उसने अपनी समस्या के बारे में बताया बाप ने बेटे को शांति से सुना जैसे उसे पता था एक दिन ऐसा भी आएगा बेटे ने भी इस बात को नोटिस किया और बाप से बोला आप जानते थे ऐसा होने वाला है 


बाप ने कहा हां क्योंकि आज से कई साल पहले मैं भी इस हालात से टकराया था बेटे ने सवाल किया फिर आपने मुझे समझाया क्यों नहीं बाप ने जवाब दिया क्योंकि तुम समझना नहीं चाहते थे मैं जानता हूं कि तुम्हारे जितनी अच्छी मूर्तियां मैं नहीं बना पाता हु यह भी हो सकता है कि मूर्तियों के बारे में मेरी सलाह गलत हो 


या मेरी सलाह की वजह से तुम्हारी मूर्ति अच्छी बनी हो लेकिन मैं जब भी तुम्हारी मूर्तियों में कमियां दिखाता था तुम अपनी बनाई गई मूर्तियों से सेटिस्फाई नहीं होते थे तुम खुद को बेहतर करने की कोशिश करते थे और वही बेहतर होने की कोशिश तुम्हारे कामयाबी का कारण था

लेकिन जिस दिन तुम अपने काम से सेटिस्फाई हो गए और तुमने यह मान लिया कि इसमें और बेहतर होने की गुंजाइश नहीं है तुम्हारी Growth भी रुक गई

लोग हमेशा तुमसे बेहतर होने की उम्मीद करते हैं और यही कारण है अब तुम्हारे मूर्तियों के लिए तुम्हारी तारीफ नहीं होती और ना ही उनके लिए तुम्हें ज्यादा पैसे मिलते हैं 

बेटा थोड़ी देर चुप रहा और फिर उसने सवाल किया अब मुझे क्या करना चाहिए बाप ने एक लाइन में जवाब दिया


Unsatisfied होना सीख लो मान लो कि तुममे हमेशा बेहतर होने की गुंजाइश बाकी है  और यही एक बात तुम्हें हमेशा बेहतर होने के लिए inspire करेगी और तुम्हें हमेशा बेहतर बनाते रहेगी

#2. दो दोस्तों की हिंदी कहानी 

( Two best friends Hindi story with moral for kids )


kahaniyan in hindi story
2 best friends story in indi with moral for kids  

दूसरी कहानी जो मैं आपको सुनाने वाला हूं यह हिंदी कहानी दो बच्चों की है जो एक गांव में रहते थे पहला लड़का 6 साल का और दूसरा 10 साल का था

दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं हमेशा एक साथ ही खेलते, स्कूल जाते, पढ़ते -लिखते सब कुछ साथ हीं किया करते थे 1 दिन दोनों लड़के खेलते खेलते गांव से दूर चले जाते हैं और खेल खेल में जो बड़ा लड़का कुएं में गिर जाता है और जोर जोर से चीखने चिल्लाने लगता है

क्योंकि उसे तैरना नहीं आता अब जो दूसरा लड़का था 6 साल का उसे अपने आसपास देखा उसे कोई नहीं दिखाई दिया जो उसकी हेल्प कर पाए फिर उसकी नजर एक बाल्टी पर गई जिसमें एक रस्सी बंधी हुई थी उसने बिना कुछ सोचे समझे जल्दी से बाल्टी को कुएं में फेंक दिया और दोस्त से कहा पकड़ लो इसे और अपनी पूरी ताकत लगाकर रस्सी को खींचने लगा 

उसने कई बार रसिया गिराई लेकिन जल्दी से पकड़ कर फिर से अपनी पूरी जान लगाकर उस रस्सी को खींचने लगा जब तक खींचता रहा जब तक उसने अपने दोस्त को बाहर नहीं निकाल लिया बचा नहीं लिया 

बाहर आकर दोनों दोस्त गले मिले और बहुत खुश हुए लेकिन कहीं ना कहीं उनके मन में डर भी था

डर था कि अब गांव जाएंगे और बताएंगे कि हम कुएं में गिर गए थे तो बहुत पिटाई होगी लेकिन मजे की बात यह है कि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ

जब वह घर जाकर उन्होंने घरवालों और बाकी गांव वालों को बताया तो उन पर किसी ने भरोसा नहीं किया लेकिन गांव वाले अपनी जगह सही भी थे 

क्योंकि उस बच्चे में इतनी भी ताकत नहीं थी कि वह पानी से भरी बाल्टी उठा सके तो इतनी बड़े बच्चे को उठाना तो बहुत दूर की बात है एक आदमी था उस गांव में जिन्हें उन बच्चों पर विश्वास था उसको सब प्रिंस चाचा कहते थे वह गांव के सबसे समझदार इंसान थे  

सबको लगता था अगर यह कह रहे हैं तो इसमें कुछ ना तो कुछ सच्चाई होगी और सब लोग इकट्ठा होकर प्रिंस चाचा की ओर जाने लगते हैं और जाकर बोलते हैं देखो जी हमें तो कुछ समझ में नहीं आ रहा आप ही बता दो ऐसे कैसे हो सकता है तभी चाचा की हंसी छूट गई और बोले बच्चे बता तो रहे हैं उन्होंने यह कैसे किया 

बाल्टी को उठाकर पानी में फेंका उसके दोस्त ने बाल्टी पकड़ी और बच्चे ने रस्सी को पकड़कर उसको ऊपर खींच लिया और अपने दोस्त को बचा लिया 

किसी को कुछ समझ में नहीं आया 
तभी चाचा कुछ देर रुक कर बोले "सवाल यह नहीं है कि" उस छोटे से बच्चे ने यह कैसे कर पाया "सवाल यह है कि" वह यह क्यों कर पाया उसके अंदर इतनी ताकत कहां से आई और बोले 

इसका सिर्फ एक जवाब है - जिस वक्त उस बच्चे ने यह किया उस टाइम पर उस जगह पर दूर-दूर तक कोई नहीं था जो उस बच्चे को बताये की तू यह नहीं कर सकता
कोई नहीं था कोई भी नहीं यहां तक कि वह खुद भी नहीं


Moral of this Hindi story:  

जब भी कोई इंसान आपसे यह केहता है कि -"तू ये नहीं कर सकता" तो वो बस आपसे इतना कहना चाहता है कि - "मै यह नहीं कर सकता"



#3.  मेरे एक दोस्त की प्यार की कहानी  

( Sad love story in hindi with great moral for kids )


sad love kahaniya in hindi
Love kahaniya in hindi 

यह कहानी मेरे एक दोस्त की है जो मेरा पड़ोसी था वह गली की एक लड़की से बहुत प्यार करता था और उसने उसे पटा भी लिया लेकिन 47 दिन के प्यार के बाद दोनों का ब्रेकअप हो गया 

मेरा दोस्त बहुत दुखी रहने लगा था और आखरी में उसने फांसी लगा ली और लड़की अपने दूसरे बॉयफ्रेंड के साथ घर छोड़कर भाग गई


Moral of this love story in hindi :


जिंदगी में हमेशा सब कुछ आपकी इच्छा अनुसार नहीं होता 
जिंदगी हमेशा आपको नए समय के साथ New सरप्राइज देती रहती है अब यह आप पर निर्भर करता है आप उसे किस नजरिए से देखते हैं जिंदगी में हर चीज अपने समय के साथ आती है जैसे हमारा बचपन, दोस्त, पापा - मम्मी इन सब का एक वक्त होता है और और वक्त के साथ ही निकल जाती है 

हमें जीवन में खुशियों के पीछे नहीं जाना चाहिए बल्कि हर एक अच्छे - बुरे पल को जीना चाहिए 

अक्सर हमें अपने खास पलों की कदर जब नहीं होती जब हम उसे जी रहे होते हैं जब होती है जब वह पल हमारे जिंदगी से निकल जाते हैं 

इसलिए मैं चाहता हूं हम हर एक पल को एंजॉय करें 
खुशी से जिये, खुलकर जीये, हर एक चीज़ को महसूस करें क्योंकि बुरे वक्त का भी एक अलग ही मजा आता है

मेरे दोस्त ने एक लड़की के लिए फांसी लगा ली उसके आगे उसकी पूरी जिंदगी थी दोस्त थे
2 lakh/month वाली जॉब थी - मां बाप, भाई, बहन, सब थे लेकिन नहीं उसे तो उस लड़की के लिए मरना था जो सिर्फ उसके बैंक बैलेंस पर मरती थी


इस school love story in hindi  को पढ़ना न भूले 

पहला किस स्कूल प्रेम कहानी - part 1, part 2 and part 3

अगर आप Real school love story को देखना चाहते है तो  "96" movie को जरूर देखे :







सुनिये : जाने से पहले आप मेरी कहानी को शेयर कर दीजिए क्योंकि आप तो कहानिया पढ़ कर आगे बढ़ जाएंगे लेकिन जो कहानियां लिखने वाला है वह पीछे रह जाएगा

प्लीज इन कहानियों को आपने दोस्तों के साथ शेयर कर दीजिये 

please share this Hindi stories with your friends

Thanks

हर मंगल वार को हनुमान चालीसा पढ़ना न भूले